युवा नशे की लत, समाज के लिए चिंता का विषय– डॉ नवीन जैन

0

बिलासपुर- जैन समाज द्वारा आयोजित ऊर्जा ध्यान योग शिविर का समापन आज जैन भवन में हुआ। जैन समाज के संरक्षक विनोद जैन, अध्यक्ष वीर कुमार जैन एवं समाज के लोगों द्वारा अंतरराष्ट्रीय योग गुरु , अहिंसा योग फाउंडेशन के प्रणेता डॉ नवीन जैन का शाल, श्रीफल एवं चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉक्टर नवीन जैन ने कहा कि आधुनिक भागदौड़ की जिंदगी में हमारे पास अपने तथा अपने शरीर के लिए समय नहीं है । 24 घंटा में हमें अपने लिए सुबह के समय 1 घंटे अनिवार्य रूप से निकालने के साथ योग एवं संगीत को अपने जीवन में शामिल कर नियमित रूप से योग एवं संगीत का ध्यान करना चाहिए । भविष्य में हमें लाखों रुपए के मेडिकल बिल भरने से बचना हो एवं गंभीर बीमारियों को आमंत्रण नहीं देना है तो हमें अपने खानपान में सुधार करने के साथ शाकाहार के साथ-साथ सात्विक भोजन करना चाहिए भोजन का हमारे शरीर एवं दिमाग में गहरा प्रभाव पड़ता है ।

समाज के साथ-साथ हमें दूसरों के साथ प्रेम एवं सद्भाव का भाव रखना चाहिए किसी से भी बैर नहीं रखना चाहिए बैर होने से मन में क्रोध एवं कटुता बढ़ती जाती है। वर्तमान की युवा पीढ़ी नशे का आदी होने के साथ-साथ समाज एवं धर्म से दूर होते जा रही है यह चिंता का विषय है अहिंसा योग फाउंडेशन के माध्यम से गांव गांव में शिविर लगाकर नशा से होने वाले नुकसान के संबंध में युवा पीढ़ी को अवगत कराने के साथ-साथ नशा को दूर कराने का संकल्प दिलाने के साथ-साथ अहिंसा रैली के माध्यम से समाज की मुख्यधारा से युवाओं को जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। बचपन से ही हम अपने बच्चों को धार्मिक के साथ-साथ आध्यात्मिक संस्कार दें ताकि बच्चे आगे आकर समाज की मुख्यधारा से जोड़ सकें। योग ध्यान शिविर के समापन के अवसर पर जैन समाज के लोगों द्वारा हाथ जोड़कर एक दूसरे से क्षमा याचना करते हुए क्षमा मांगी गई एवं आपस में कटुता को दूर करने का निवेदन किया गया।

जैन समाज के अध्यक्ष वीर कुमार जैन ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग गुरु डॉक्टर नवीन जैन द्वारा विगत 4 दिनों तक उर्जा ध्यान योग शिविर के माध्यम से समाज के लोगों में योग एवं ध्यान के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए इससे होने वाले लाभ के संबंध में अवगत कराया गया । जैन समाज के संरक्षक विनोद जैन ने कहा कि समाज के लोगों द्वारा 4 दिनों तक योग एवं अध्यात्म के नाम माध्यम से धर्म से जुड़ने के साथ-साथ शरीर को स्वस्थ रखने का कार्य किया गया । कार्यक्रम में जैन समाज के संरक्षक प्रवीण जैन, सनत जैन, कैलाश जैन, सुकुमार जैन, मंत्री अमित जैन, जयकुमार जैन, सत्येंद्र जैन, राजेश जैन, अनिल जैन, मंगला जैन, सविता जैन, ज्योति जैन, सरिता जैन, शकुन जैन, सुमन जैन, नमिता जैन , अंजलि जैन एवं जैन समाज के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here