गणपति बप्पा की आराधना ऐसे करे अपने राशिफल के मुताबिक

1

भगवान गणेश के मंत्र का जो भी जप कर लेता है। उसे मन में शांति की अनुभूति होती है। साथ ही अमंगल होने के भय से भी मुक्त हो जाता है। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी के मुताबिक यदि राशि के अनुसार भगवान गणेश का पूजन वंदन किया जाए तो वह अधिक फलदाई माना जाता है। ऐसे में यदि भगवान के विविध रूपों का पूजन राशि के अनुसार किया जाए तो वह न केवल मंगलकारी होगा। बल्कि शुभ फलदायक व शीघ्र फलदायक भी होगा। भगवान गणेश को ऐसे ही विघ्नहर्ता व प्रथम पूज्य नहीं कहा जाता है। भगवान गणेश अपने भक्तों को कभी भी निराश नहीं करते है। इस लेख के माध्यम से जाने कैसे करे राशि के मुताबिक पूजा।

मेष

मेष राशि के जातकों को वक्रतुण्ड रूप में गणेश जी की आराधना करनी चाहिए और गणपति को गुड़ के लड्डू का भोग लगाना चाहिए।

वृषभ

वृषभ राशि के जातक गणेशजी के शक्ति विनायक रूप की आराधना करे। गणपति को घी में मिश्री मिलाकर भोग लगाएं।

मिथुन

मिथुन राशि वाले जातक गणेशजी की आराधना लक्ष्मी गणेश के रूप में करे। गणेशजी को मूंग के लड्डु का भोग लगाएं।

कर्क

इस राशि के जातक वक्रतुण्ड रूप में गणेशजी की पूजा करे। उन्हें मक्खन, खीर का भोग लगाए।

सिंह

इस राशि वाले जातक लक्ष्मी गणेश रूप् में गणेश जी की पूजा करे और गणपति को मोती चूर के लड्डू का भोग लगाए।

कन्या

कन्या राशि के जातक मां लक्ष्मी के साथ गणेश की पूजा करे। साथ में मंूग का भोग लगाए।

तुला

इस राशि के जातक गणेश के विघ्नहर्ता वक्रतुण्ड की पूजा करे। साथ ही पूजा के समय 5 नारियल का भोग लगाए।

वृश्चिक

इस राशि के जातक वेतार्क गणेश की पूजा करे। गणेश जी को बेसन से बने लड्डुओं का भोग लगाए।

धनु

इस राशि के जातक ओम गं गणपतैः नमः मंत्र का जाप करे। साथ ही बेसन से बने भोग अर्पित करे।

मकर

इस राशि के जातक गणेश चतुर्थी के दिन शक्ति विनायक गणेश की आराधना करे। तिल के लड्डुओं का भोग लगाए।

कुंभ

इस राशि के जातक शक्ति विनायक गणेशजी की पूजा करे। गणपति को हरे फलों का भोग लगाए।

मीन

मीन राशि वाले जातक हरिद्रा गणेश की पूजा करे। पूजा के दौरान शहद और बेसन का भोग लगाए।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here