शुक्रवार को करे मां संतोषी की पूजा और व्रत, हो जाएगें सभी कष्ट दूर, जाने पूजन विधि

4

शुक्रवार को मां लक्ष्मी के अलावा संतोषी मां की पूजा का भी दिन माना गया है। इस दिन व्रत भी रखने का विधान है। मान्यता है कि माता संतोषी का जो भी भक्त विधिपूर्वक पूजन करता है उसके समस्त कष्ट दूर हो जाते है। आज हम इस लेख के माध्यम से मां संतोषी के पूजन, व्रत की विधि व पूजा का महत्व बताएंगे।
माता संतोषी को भगवान गणेश की पुत्री माना जाता है जिस तरह से भगवान गणेश विघ्नों को दूर कर सुख प्रदान करते है। उसी तरह से उनकी बेटी मां संतोषी भी अपने भक्तों को कष्टों से मुक्त करती है। माता संतोषी दुखों का नाश करने वाली देवी है। इस व्रत को सुहागिन स्त्रियां रखती है। इस व्रत को रखने से पति की उम्र में भी वृद्धि होती है और धन के मामले में कोई बाधा नहीं आती है। इस व्रत को रखने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

विशेष दिनों की पूजा का मिलता है विशेष पुण्य

पुराणों में कहा गया है कि विशेष दिनों मे की जाने वाली पूजा का सर्वोत्तम फल मिलता है। विशेष बात यह है कि माता संतोषी का व्रत महिलाओं के साथ-साथ पुरुष भी रख सकते है। इस व्रत में नियम का बहुत महत्व है। इसलिए इस व्रत में विशेष संयम और निषेध पदार्थो। का सेवन नहीं करना चाहिए।

मां संतोषी के 16 व्रत

मां संतोषी की पूजा 16 शुक्रवार करने से विशेष फल प्राप्त होता है। इस व्रत का समापन पूरे श्रद्धाभाव से किया जाना चाहिए। समापन उद्यापन में सुहागन महिलाओं को घर में बुलाकर भोजन और प्रसाद खिलाया जाता है। उपहार भी दिए जाते है।

पूजन विधि और सामग्री

मां संतोषी की पूजा करने से पूर्व जल से भरे पात्र के उपर एक कटोरी में गुड़ और भुने हुए चने रखे। दीपक जलाए। व्रत को करने वाला कथा कहते समय हाथों में गुड़ और भुने हुए चने रखे। दीपक के आगे या जल के पात्र को सामने रख कर कथा प्रारंभ करे। कथा पूरी होने पर आरती, प्रसाद का भोग लगाए। हाथ के गुड़ और भुने हुए चने गौ माता को खिलाएं। कलश पर रखा गुड़ चना को प्रसाद के रूप में बांट दे। कलश के जल को घर के सभी कोनों में छिड़के।

भूल कर भी न करे यह काम

-इस दिन व्रत करने वाले स्त्री-पुरुष खट्टी चीज का न ही स्पर्श करे और न ही खाएं
-गुड़ और चने का प्रसाद खुद भी खना चाहिए।
-व्रती के परिवारजन भी इस दिन खट्टे का सेवन ना करे।

4 COMMENTS

  1. माता संतोषी की होती है जय जयकार मेरे दिल के मंदिर में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here