स्वर्णकार समाज की महिलाओं ने श्रद्धाभाव से की हरितालिका व्रत-पूजा

0

बिलासपुर.स्वर्णकार समाज की महिलाओं ने हरितालिका व्रत व पूजन शुक्रवार को विधि-विधान से किया। तेलीपारा मे सामूहिक रूप से श्रृंगारित होकर तीज हरतालिका व्रत भक्तिभाव से किया। दिन भर निर्जला व्रत रखकर रात में श्रृंगारित होकर भगवान शंकर व माता पार्वती की मूर्ति बनाकर पंचद्रव्यों से अभिषेक, पूजन किया।

महिलाओं ने चंद्रिका सोनी के निवास पर माता पार्वती और भगवान महादेव से अपने पति की लंबी आयु हेतु आशीर्वाद मांगा। इस अवसर पर सोलह श्रृंगार से सजी-धजी महिलाओं ने शिव और पार्वती की पार्थिव प्रतिमा बनाकर। उसे मंडप रूपी फुलेरा से सजाया। पूजा-अर्चना की ।माता पार्वती को सोलह श्रृंगारों का भेंट किया। माता पार्वती का श्रृंगार बेसन से बने विभिन्न तरह के आभूषणों से किया।

निशा स्वर्णकार ने बताया कि छत्तीसगढ़ की प्रथा के अनुसार महिलाओं ने ठेठरी और खुरमी बनाकर भगवान को अर्पित किया । पूरे दिन भर अन्न और जल का त्याग कर निर्जला व्रत करती हुई महिलाओं ने रात्रि में संगीत, भजन एवं कीर्तन के माध्यम से भगवान को प्रसन्न कर आशीर्वाद लिया। प्रातः अपने निर्जला व्रत का पारण बिंसा पानी पीकर किया।

फुलेरा का विसर्जन करने के पश्चात अपने -अपने घरों में आकर महिलाओं ने अपने अमर सुहाग की कामना की। अपने पति की तिलक आरती की और उनके हाथों जल ग्रहण कर निर्जला व्रत का समापन किया। अपने परिचितों को घर में प्रसाद के वितरण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here