करवा चौथ पर राशि के मुताबिक वस्त्र पहनकर पूजा करना होता है शुभ, जाने शुभ मुहूर्त

1

करवा चौथ व्रत हर साल कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को होता है। इस साल यह 4 नवंबर को पड़ रहा हे। इस दिन सुहागिने अपने पति की लंबी आयु की कामना करते हुए निर्जला व्रत रखती है।

शाम को पूजा और चंद्रमा को अघ्र्य देकर व्रत खोला जाता है। इस दिन व्रती स्त्रियां सोलह श्रृंगार करती है। इस दिन लाल रंग के वस्त्र या साड़ी पहनना शुभ माना जाता है।

ज्योतिषाचार्यो के मुताबिक राशि के अनुसार ही वस्त्र के रंग का चयन करे। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी ने इस विषय में विस्तार से बताया है।

मेष-गहरा लाल रंग

वृष-पीला रंग

मिथुन-हरा रंग

कर्क-गुलाबी रंग,

सिंह-लाल रंग

कन्या-हरी धारियों वाला वस्त्र या साड़ी

तुला गुलाबी अथवा पीली साड़ी

वृश्चिक-प्लेन गहरे रंग की साड़ी

धनु-हल्के पीले रंग के साड़ी

मकर-कत्थंई रंग के वस्त्र

कुंभ-मैरून रंग

मीन-पीली साड़ी

करवा चौथ में सुहागिन महिलाएं रखे इन बातों का ध्यान

करवा चौथ के पूजन का शुभ मुहूर्त

संध्या पूजा का शुभ मुहूर्त 4 नवंबर को शाम 5 बजकर 34 मिनट से शाम 6 बजकर 52 मिनट तक है। कहा जा रहा है कि चंद्रोदय शाम 7 बजकर 57 मिनट पर होगा।

करवा चौथ में प्रयोग होने वाली पूजा सामग्री की लिस्ट

चंदन, शहद, अगरबत्ती, पुष्प, कच्चा दूध, शक्कर, शुद्ध घी, दही, मिठाई, गंगाजल, अक्षत, सिंदूर, मेहंदी, महावर, कंघी, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछिया, मिट्टी का टोंटीदार

करवा व ढक्कन, दीपक, रूई, कपूर, गेंहू, शक्कर का बूरा, हल्दी, जल का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, चलनी, आठ पूरियों की अठावरी और दक्षिणा के लिए पैसे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here