विश्वनाथ कश्यप को कोरोना कर्मवीर सम्मान से किया गया सम्मानित

0

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सपनों के भारत को साकार करने समर्पित संगठन राष्ट्र सृजन अभियान नई दिल्ली द्वारा संस्कार भारती छत्तीसगढ़ प्रांत के प्रांतीय साहित्य विधा प्रमुख विश्वनाथ कश्यप को कोरोना कर्मवीर सम्मान से सम्मानित किया गया है ।

यह सम्मान उन्हें कोरोना काल मे किये उल्लेखनीय कार्यो के लिए प्रदान किया गया है। ज्ञात हो कि श्री कश्यप के द्वारा भीषण गर्मी में जून की स्थिति में भी दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश के कोरोना कोविड 19 हाटस्पाट जोन से आये प्रवासी क्वारांटाईन

मजदूरों को कार्यस्थल पोड़ी में सुरक्षा एवं मास्क सेनेटाइजर के साथ भोजन की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जो सेवाएं दी गई व उन्हें सुरक्षित घर पहुंचाने के साथ सामाजिक सहयोग व सेवाएं दी गई उनके लिए यह सम्मान प्रदान किया गया है।

उन्होंने अपने सहयोगी पांच कोरोनावारियर्स शिक्षको को भी सम्मानित कर उत्साहवर्धन किया। श्री कश्यप ने आंचलिक भाषा में वैश्विक महामारी से बचाव पर कविता लिखकर वाट्सएप समूह मे भी शेयर किया।

सम्मान की इस कड़ी में नई दिल्ली द्वारा वरिष्ठ साहित्यकार डॉ संगीता परमानंद को भी कोरोना कर्मवीर सम्मान से नवाजा गया है । यह सम्मान उनके सामाजिक एवं पारिवारिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए दिव्यांगजनों पर समाज शास्त्र में प्रथम शोधकार्य व संक्रमण बचाव व रोकथाम जागरूकता के लिए दिया गया है ।

उल्लेखनीय है कि इसके पहले राष्ट्रीय विकलांग विमर्श शोधपीठ बिलासपुर के निदेशक के रूप में समाज सेवा हेतु डॉ विनय पाठक को कोरोना कर्मवीर सम्मान से नई दिल्ली द्वारा सम्मानित किया जा चुका है ।

सुप्रसिद्ध साहित्यकार एवं छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ विनय पाठक सहित इन दोनो सम्मानित व्यक्तित्व को साहित्यकार राघवेन्द्र दुबे, बालमुकुंद श्रीवास, राधेश्याम पटेल, एमडी मानिकपुरी, पूर्णिमा तिवारी, शुकदेव कश्यप, दिनेश पांडेय, महेश

श्रीवास , धनेश्वरी सोनी, राजेश सोनार , सनत तिवारी, अनिल गधेवाल, शिरीष पागे, विनीता भावनानी, राजकुमार पांडेय, भुवनेश्वर चन्द्राकर ने उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं प्रेषित कि है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here