माघ पूर्णिमा के दिन इसलिए करते है दीपदान, जाने

2

माघ पूर्णिमा(Magh purnima) के दिन दीपदान का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि इस दिन चंद्रमा अपनी सभी कलाओं के साथ खिलता है। इस दिन चंद्रमा की चांदनी का सीधा मन पर असर पड़ता है।

ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी ने बताया कि चंद्रमा और मन का सीधा संबंध होने के कारण इस दिन दीपदान करना मानसिक बीमारियों से मुक्ति दिलाता है। इसलिए अगर मन में कोई कमजोरी है तो माघ मास की पूर्णिमा के दिन चंद्रमा को दीपदान करना चाहिए।

माघ पूर्णिमा 27 फरवरी को इस दिन स्नान करने का जाने महत्व

धार्मिक मान्याताओं के अनुसार माघ पूर्णिमा (Magh Purnima)के दिन दीपदान करने से भगवान विष्णु की कृपा मिलती है। घर में शांति और सुख-समृद्धि आती है। यहीं कारण है कि इस दिन लोग भगवान विष्णु का व्रत रखने के साथ ही मंदिर, चैराहे या फिर नदी किनारे दीपदान करते है। माघ पूर्णिमा के दिन मंदिर में खासकर दीप जलाए जाते है।

मंत्र जाप करते हुए करे दीपदान

दीपदान करते समय मंत्र का जाप करना चाहिए। यह श्लोक ऋग्वेद में वर्णित है। कहा जाता है कि दीपदान के वक्त इस मंत्र का जाप करने से मन मजबूत होता है और जातक में आत्मविश्वास आता है।

चंद्रमा मनसो जात्श्चक्षोैः सूर्यो अजायत,

श्रोत्रावायुश्च प्राणश्च मखादग्निरजायत

नाभ्या आसीदतंरिक्षं शीष्र्णो द्यौः समवर्तत, पद्भ्यां भूमिर्दिश।

श्रोत्रात्तथा लोकान् अकल्पयन्।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here