भारतीय सिंधु सभा की महिलाओं ने रीति-रिवाज के महत्व को समझते हुए मनाया मकर संक्रांति का पर्व

0

बिलासपुर.भारतीय सिंधु सभा महिला विंग के द्वारा मकर संक्रांति का पर्व मनाया गया। जिसका उद्देश्य समाज में लोगों को आपस में जोड़ना व युवाओं को अपने रीति-रिवाजो और संस्कृति से परिचित कराना है।

जिसमें कोरोना के गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए बड़ी संख्या में महिलाएं व बच्चे शामिल हुए। कार्यक्रम की शुरुआत श्री झूलेलाल साईं के भजन से की गई। जिसे भूमि गिडवानी ने प्रस्तुत किया। तत्पश्चात बच्चों द्वारा भजन की प्रस्तुति दी गई।

कोरोना काल में आयोजित कई ऑनलाइन कंपटीशन में विनर रहे बच्चों को पुरस्कृत किया गया। जिसमें भाषा संस्कृत दिवस, करवा चौथ, बेत प्रतियोगिता मुख्य रूप से आयोजित की गई थी।

कई तरह के म्यूजिकल गेम प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें केंद्रीय गानों पर अंताक्षरी खेली गई। शिक्षा ग्रुप के द्वारा नृत्य की प्रस्तुति दी गई। जिसकी सभी ने सराहना की। कार्यक्रम में मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में विशेष प्रार्थना की गई।

जिसमें सभी के सुख-समृद्धि शांति व स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना प्रमुख रही। प्रांतीय अध्यक्ष विनीता भावनानी ने सभी को मकर संक्रांति की बधाइयां दी। सीजन के अनुसार चीजें खाने व अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने का संदेश दिया।

श्री झूलेलाल चालिहा उत्सव में रायगढ़ के भक्तों भजनों से किया माहौल को भक्तिमय

अध्यक्ष कंचन मलकानी द्वारा दी। सभी को बधाइयां दी गई। कार्यक्रम का संचालन गरिमा शाहनी व रेखा आहूजा ने किया।

कार्यक्रम में कंचन जेसवानी, प्राची , मुस्कान बच्चानी , नीलू गिडवानी, सोनी बहरानी, अनीता लालचंदानी, रूपल चंदवानी, दीपा आहूजा, कविता चिमनानी, विमला उभरानी, ज्योति पंजाबी, सोनल आडवाणी, पूनम जिवनानी, चंदा ठाकुर, भारती सचदेव, तमना प्रितवानी आदि उपस्थित रही ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here