गुरु अमरदास साहिब जी का प्रकाश पूरब मनाया गया

सिख समाज के तीसरे गुरू श्री अमरदास साहिब जी का जन्म उत्सव प्रकाश पूरब मसानगंज स्थित सिंधी गुरूद्वारे मे बडे ही हर्षोल्लास से सोशल मीडिया के माध्यम से ऑनलाइन मनाया गया। गुरूद्वारे के भाई साहिब अमर रूपानी ने बताया कि सबसे पहले संगत द्वारा सुखमनी साहिब जी का पाठ किया गया।

तत्पश्चात गुरू अमरदास साहिब जी की वाणी अंनद साहिब का गायन करके विश्व कल्याण के लिए अरदास की ताकि सभी मानव जाति सुखी एवं स्वस्थ रहे। श्री अमरदास जी अपने गुरू श्री अंगद देव महराज की तन, मन से सेवा करते थे जिससे खुश होकर गुरू अंगद देव जी ने श्री अमरदास जी को अपनी गुरू गद्दी दे दी। अर्थात हमें भी अपने जीवन में हमेशा अपने गुरू की एवं अपने माता-पिता की तन मन से सेवा करनी चाहिए

जिससे हमें जीवन में सब कुछ मिल सके। इस अवसर पर गुरु के भजन गाए गए। शों कया परवाह सतगुरु बैठो, पार भरनदो भंडार मुजो बाबल सतनाम-सतनाम, वाहेगुरु-वाहेगुरु, तेरो नाम, तेरो नाम, तेरो नाम जी सतनाम-सतनाम जी आखिर में अरदास की गईं विश्व कल्याण के लिए। पल्लो पाया गया, आरती की गई व प्रसाद वितरण किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here