शुक्र का उच्च राशि मीन में हो रहा गमन, जाने सभी राशियों पर होगा प्रभाव

0

शुक्र ग्रह का गोचर 17 मार्च को कुंभ राशि से अपनी उच्च राशि मीन में गोचर हो गया है। देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की राशि मीन में पहले से सूर्यदेव स्थित है। ऐसे में शुक्र का मिलन सूर्य के साथ उच्च का प्रभाव देने वाला रहेगा।

ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी ने बताया कि वैदिक ज्योतिष के अनुसार वृष और तुला राशि के स्वामी शुक्र जब अपनी उच्च राशि में होते है तो शुभ फलों में वृद्धि करते है। शुक्र की शुभ स्थिति से 10 अप्रैल के बीच कई राशियों को सुख-समृद्धि की प्राप्ति होगी। जबकि कई राशियों के लोगों को पारिवारिक, आर्थिक और शारीरिक सुख में कमी महसूस हो सकती है। सभी राशियों को प्रभावित करने वाला है।

मेष-शुक्र 12वें स्थान पर गोचर करने वाला है और कुंडली में यह स्थान विदेश, यात्रा आदि को दर्शाता है। इस दौरान वैवाहिक जीवन हो या फिर लव लाइफ आप पार्टनर के साथ यादगार समय व्यतीत करेंगे। एक-दूसरे की इच्छाओं का सम्मान करेंगे और आपस में चल रहे मतभेद भी खत्म करेंगे।

व्यापार से जुड़े जातकों की अच्छी प्रगति होगी और विदेशी संपर्क से लाभ की स्थितियां बनेंगी। साझेदारी में व्यवसाय करने वालों की आय में वृद्धि होगी। आपको अपने खर्चों पर नियंत्रण करना होगा और सेहत का ध्यान रखना होगा।

वृषभ-शुक्र इस राशि के 11वें स्थान पर प्रवेश करेगा। इस दौरान आप आशावादी नजर आएंगे और कार्यक्षेत्र में बड़ी भूमिका मिलने से आनंदित भी होंगे। आपकी मेहनत की हर जगह चर्चा होगी और सराहना भी मिलेगी। प्रमोशन की संभावना बन रही है।

आर्थिक स्थिति मजबूत होगी लेकिन धार्मिक कार्यक्रमों में कुछ व्यय कर सकते है। व्यापारियों को गोचर काल में अच्छा मुनाफा होता दिखाई दे रहा है और नई नौकरी तलाश करने वालों को भी अच्छे अवसर मिलेंगे। पार्टनर के साथ अच्छा समय गुजरेगा और छात्र भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

मिथुन-इस राशि में शुक्र 10वें स्थान पर गोचर करने वाला है। इस दौरान रचनात्मक कार्य में आपकी इच्छा बढ़ेगी और चीजों को बेहतर करेंगे। सामाजिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे और जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए आगे आएंगे।

कार्यक्षेत्र में साथियों की मदद से लक्ष्यों की पूर्ति करेंगे। इससे आपकी स्थिति बेहतर होगी। विदेश से लाभ मिलने की संभावना बन रही है। गोचर काल में पार्टनर को स्पेशल फील करवाएंगे और उनके साथ बाहर घूमने जा सकते है।

कर्क-इस राशि में शुक्र 9वें भाव में गोचर करने वाला है और कुंडली में यह भाव लंबी यात्रा, आध्यात्म और भाग्य के बारे में बताता है। शुक्र का गोचर आपकी राशि के लिए धन योग भी बना रहा है। जिससे आपको अटके हुए धन की प्राप्ति होगी और आमदनी भी बढ़ेगी।

साथ ही पुराने कर्जो। से मुक्ति मिलेगी और आपके कोष में भी वृद्धि होगी। गोचर कर्जों से मुक्ति मिलेगी और आपके कोष में भी वृद्धि होगी। गोचर काल में आपकी सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी और भौतिक चीजों की खरीदारी का मौका भी मिलेगी। परिवार वालों और दोस्तों का भरपूर सहयोग मिलेगा।

सिंह-आपकी राशि में शुक्र आठवें स्थान पर गोचर करने वाला है। इस दौरान आपकों कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। साथ ही गुप्त शत्रुओं से संभलकर रहने की आवश्यकता पड़ेगी। कार्यक्षेत्र में सावधानी से कार्य करें और सरकारी नौकरी करने वाले अपना काम ईमानदारी से करें।

कार्यस्थल पर आपकों अपने व्यवहार और भाषा में सुधार लाने की जरूरत पड़ेगी। अन्यथा स्थितियां आपके खिलाफ हो सकती है। गोचर काल में यात्रा करने से बचें और खर्च संभलकर करे। ससुराल पक्ष से लाभ होगा और जीवन साथी के जीवनसाथी के जीवन में उन्नति होगी।

कन्या-शुक्र इस राशि के सातवें स्थान पर गोचर करने वाला है और कुंडली में यह स्थान वैवाहिक संबंध, व्यवसाय, साझेदारी का प्रतिनिधित्व करता है। इस दौरान कार्यक्षेत्र में किया गया हर कार्य पर लोगों की नजर होगी और पूरी तरह आकर्षण का केन्द्र बने रहेंगे।

आपके काम की प्रशंसा मिलेगी और साझेदारी में नया व्यवसाय के विस्तार की योजना भी सफल होगी और कई लोगों का समर्थन भी मिलेगा। परिवार के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा और उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए मेहतन भी करेंगे। साथ में समाज में सम्मान बना रहेगा।

तुला-शुक्र इस राशि के छठवें स्थान पर प्रवेश करने वाला है। इस दौरान अपनी सेहत का ध्यान रखें और भीड़भाड़ वाली जगहों से दूरी बनाकर रखे। व्यस्त दिनचर्या की वजह से आपको अधिक भागदौड़ भी करनी पड़ सकती है। जिससे मानसिक तनाव भी मिलेगा।

बाहर खान-पान और तला-भूना खाने से परहेज करे। दुश्मन आप पर हावी होते नजर आएंगे इसलिए अपने कार्य को सावधानी से पूरा करे। कर्ज लेने से बचें और आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए कड़ी मेहनत करते रहे। कार्यस्थल पर भी आपको कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।

वृश्चिक-शुक्र इस राशि के पांचवें भाव में प्रवेश करने वाला है और कुंडली में यह भाव प्यार, रोमांस, संतान आदि का प्रतिनिधित्व करता है। इस दौरान आपकी लोकप्रियता में वृद्धि होगी और सोशल मीडिया के माध्यम से कई लोगों तक आपकी पहुंच बढ़ेगी।

व्यापार से जुड़े जातकों को अच्छा मुनाफा होगा और दूसरों के व्यापार में निवेश भी करेंगे। लव लाइफ में रोमांटिक पलों का अनुभव करेंगे और मनमुटाव भी खत्म होंगे। विवाहित जातकों के जीवनसाथी से लाभ की संभावना बन रही है।

धनु-शुक्र आपकी राशि से चैथें स्थान में गोचर करने वाला है। इस दौरान मां के साथ रिश्ते मधुर होंगे और उनके स्वास्थ्य भी अच्छा होगा। पारिवारिक वातावरण खुशियों से भरा हुआ रहेगा। गोचर काल में आप दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ को अच्छे से पहचान लेंगे कि कौन आपके साथ है और कौन आपका फायदा उठा रहा है। जीवनसाथी के साथ अच्छे पलों को याद करेंगे और भविष्य के लिए प्लानिंग करेंगे। अगर आप भूमि खरीदना चाहते हैं तो आपको लाभ मिल सकता है।

मकर-शुक्र इस राशि से तीसरे स्थान पर गोचर करने वाला है और कुंडली में यह स्थान भाई-बहन, छोटी यात्रा, इच्छा आदि के बारे में बताता है। इस दौरान भाई-बहन के साथ आपके रिश्ते मधुर होंगे और पारिवारिक बिजनेस की बढ़ोत्तरी के लिए उनका सहयोग भी मिलेगा।

जिससे रिश्तों में नई ताजगी भी आएगी। बड़े लोगों से कनेक्शन बनेंगे। जिनकी मदद से आपको कई नए लाभदायक अवसर मिलेंगे। शेयर बाजार से देखकर खुशी मिलेगी और छात्रों को शिक्षा के क्षेत्र में सफलता मिलेगी।

कुंभ-शुक्र इस राशि से दूसरे स्थान पर प्रवेश करने वाला है और कुंडली में यह स्थान धन, परिवार आदि के बारे में दर्शाता है। इस दौरान आपको विभिन्न माध्यमों से लाभ होगा और आपके कोष में भी वृद्धि होगी। पैतृक संपत्ति से अचानक लाभ होने की योजना बन रही है और सुख-सुविधाओं में भी वृद्धि होगी।

गोचर काल में आपका ध्यान धन और परिवार की तरफ रहेगा। परिवार में कोई कार्यक्रम हो सकता है। कार्यक्षेत्र में सहयोगियों का पूरा समर्थन मिलेगा। जिससे आपको चुनौतियों को नियंत्रण कर पाएंगे।

मीन-शुक्र इस राशि के लग्न भाव यानी पहले स्थान पर गोचर करने वाला है। इस दौरान अपने साथ-साथ अपने परिवार की सेहत का पूरा ध्यान रखे और समय पर अपना कार्य करते रहे अन्यथा एक साथ अधिक कार्य हो जाने की वजह से मानसिक तनाव हो सकता है।

खान-पान का ध्यान रखे और योग व ध्यान करते रहे। गोचर काल में आपको अचानक लाभ होने की संभावना बन रही है। वित्तीय स्थिति स्थिर रहेगी और व्यवसाय से जुड़े लोगों के लिए समय शुभ है। पार्टनर के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here