स्वर्णकार महिला विंग ने आंवला नवमी की पूजा के साथ आंवला भात किया ग्रहण

0

बिलासपुर. स्वर्णकार महिला विंग बिलासपुर द्वारा सोमवार को जमुना देवी स्वर्णकार के अन्नपूर्णा कॉलोनी स्थित निवास पर सामूहिक सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया गया।

साथ ही कार्तिक मास होने के कारण आंवला पेड़ के नीचे सभी सदस्यों ने आंवला भात को प्रसाद के रूप में ग्रहण किया। आंवला नवमी का विशेष महत्व होता है।

विज्ञान व प्रकृति के महत्व को समझते हुए महिला विंग की महिलाओं ने विधि-विधान से आंवला पेड़ की पूजा करते हुए आशीर्वाद मांगा।

मान्यता है कि आंवला में लक्ष्मी नारायण का वास होता है। कार्तिक के माह में भगवान लक्ष्मी श्री नारायण की पूजा करना पुण्यकारी होता है। आध्यात्मिक, मानसिक व स्वास्थ्य की दृष्टि से यह तिथि बहुत ही खास मानी गई है।

औषधीय, आध्यात्मिक व प्राकृतिक महत्व का पौधा है आंवला -ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी

इस दिन पूजा-अर्चना के साथ आंवला भात यानी के आंवला पेड़ के पास बैठकर भोजन करना उत्तम माना गया है।

इस वजह से महिलाओं ने विधिवत पूजन के बाद आंवला भात कार्यक्रम किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्वर्णकार महिला विंग की महिलाएं उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here