बच्चों के लिए सुजाता बना रही मास्क और कर रही निःशुल्क वितरण

कोरोना काल में लोग काफी डरे हुए है। लगातार बढ़ रहे संक्रमण व मृत्यु की खबर चारों तरफ से आ रही है। ऐसे में कोरोना काल में सकारात्मक रूप से लोगों के उत्साह बढ़ाने का कार्य सुजाता कर रही है।

शांति नगर निवासी सुजाता मुशर्रीफ पेशे से एक कम्प्यूटर शिक्षक है। उसके दो बच्चे है। कोरोना काल का सदुपयोग करते हुए खास तौर पर बच्चों के लिए मास्क बना रही है। सुजाता का कहना है कि बच्चे मास्क को निकालकर इधर-उधर फेंक देते है।

ऐसे में बच्चों के लिए रंग-बिरंगे व कार्टून वाले मास्क बना कर बच्चों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करना चाहती हूं। ताकि बच्चे इस कोरोना के चपेट में आने से बच सके। बच्चों को मास्क का वितरण भी स्वयं जाकर कर रही है और उन्हें कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करते हुए घर पर रहकर सुरक्षित रहने की सलाह भी दे रही है।

सुजाता ने अपने हाथों से मास्क बनाकर न सिर्फ अच्छा काम किया है। बल्कि नकारात्मक ऊर्जा को खत्म कर सकारात्मक ऊर्जा का संचार लोगों के बीच किया है। मास्क का वितरण निःशुल्क कर रही है। इस कार्य के लिए सेवा एक नई पहल संस्था के संयोजक सतराम जेठमलानी व सुनील तोलानी ने प्रोत्साहन के साथ ही सहयोग भी दिया।

Leave a Reply