सिंधियत बचाओ जागरूकता अभियान में समाज के लोगों को किया जागरूक

0

बिलासपुरसिंधी भाषा, साहित्य व संस्कृति को बचाने के लिए ऑनलाइन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत अयोध्या से उत्तर प्रदेश सिंधी युवा समाज के प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश ओमी ने सिंधियत बचाओ ऑनलाइन जागरूकता अभियान में बिलासपुर के प्रमुख पदाधिकारियों से बातचीत की। सिंधियत को कैसे जिंदा रखें इसके लिए विस्तार से चर्चा की। साथ ही जागरूक भी किया। प्रदेश अध्यक्ष ओमी ने कहा कि शीघ्र ही उत्तर प्रदेश सिंधी युवा समाज का राष्ट्रीय स्तर के रूप में गठित किया जाएगा। ऑनलाइन चर्चा के दौरान हाईटेक आदर्श पूज्य सिंधी पंचायत के प्रवक्ता विजय दुसेजा, पूज्य सिंधी सेंट्रल पंचायत के संरक्षक देवीदास वाधवानी, पूज्य सिंधी पंचायत के अध्यक्ष किशोर गेमनानी, सिंधु कल्चरल एलायंस फोरम के अध्यक्ष डॉ हेमंत कलवानी व भारतीय सिंधु सभा महिला शाखा की प्रदेश अध्यक्ष विनीता भवनानी आदि से विस्तार से चर्चा की। समाज में जागरूकता कैसे बढ़े इसके लिए एक कार्यक्रम शुरू करने का सुझाव दिया।

प्रदेश अध्यक्ष ओमी ने सिंधी परिवारों से कहा कि सिंधी भाषा , साहित्य, संस्कृति व सिंधी तीज त्यौहार धीरे-धीरे समाप्त होते जा रहे हैं, जो कि एक बहुत बड़ा खतरे का संकेत है उन्होंने कहा कि भाषा, साहित्य , संस्कृति व तीज त्यौहार और सिंधी संतोए महापुरुषों , शहीदों का इतिहास जिंदा रखने के लिए पूरे देश के सिंधी परिवारों में सिंधियत बचाओ ऑनलाइन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

जिससे समाज के प्रति लोगों में जागरूकता उत्पन्न होगी। जागरूकता अभियान पूरे देश में दिसंबर तक चलेगा। उन्होंने कहा कि यदि भाषा, संस्कृति ,साहित्य व सिंधी तीज त्यौहार और व्यंजन लुप्त हो गए तो आने वाली पीढ़ी हमें कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि सिंधी तीज त्यौहार जिसमें टीजड़ी, गोगो, थदड़ी ,सगडा आदि त्योहार सिंधी समाज पूरे उत्साह व उमंग के साथ परिवार के साथ मनाता है । जिसमें तरह.तरह के सिंधी व्यंजन तैयार किए जाते हैं लेकिन धीरे-धीरे यह परंपराएं समाप्त होती जा रही है । आज की युवा पीढ़ी घरों में सिंधी भाषा का प्रयोग नहीं कर रही हैं जो की चिंता का विषय हो गया है ।

इस अभियान के लिए प्रदेश के सभी जनपदों कि सिंधी पंचायतों सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग लिया जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष से ऑनलाइन चर्चा के दौरान प्रवक्ता विजय दुसेजा ने कहा कि सिंधियत के प्रचार प्रसार के लिए शहर के सभी सिंधी परिवारों में जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। जिससे सिंधियत का विकास हो उन्होंने कहा कि दस अगस्त दिन सोमवार को सिंधी समाज घर-घर में थदडी का पर्व मनाएगा । इस पर्व में सिंधी समाज तरह-तरह के सिंधी व्यंजन एक दिन पूर्व तैयार कर माता शीतला का विधि-विधान के साथ पूजन कर प्रसाद के रूप में ग्रहण करता है यह बहुत पुरानी परंपरा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here