साईं जगदीश ने अपनी अमृतवाणी से संगत को किया निहाल

2

बिलासपुर.श्री झूलेलाल मंदिर झूलेलाल नगर चकरभाटा में श्री झूलेलाल चालिहा उत्सव के 31 वें झूलेलाल धूनी के अवसर पर साईं परसराम दरबार लाल वारो अहमदाबाद गुजरात से आए सम्मानीय साईं जगदीश भाई साहब कार्यक्रम हुआ।

कार्यक्रम की शुरुआत रात 10 बजे भगवान झूलेलाल बाबा गुरमुखदास के फोटो पर पाखर व फूलों की माला पहनाकर दीप प्रज्वलित करके की गई। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के जाने.माने गायक जी उमा महेश के द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत साईं बाबा के भजन से की गई।

उसके बाद कई भक्ति भरे भजन गाए और भक्तों का मन जीत लिया अपने भजनों से। वरुण साइ ओम साईं ने भी भक्ति भरे भजन गाए। चालिहा आया है भगवान झूलेलाल का…,जिसको है साईं से प्यार वह हाथ ऊपर करें…,भाई शोभराज, अनिल भाई, रवि भाई के द्वारा भी कई भक्ति भरे भजन गाए गए।

जिसे सुनकर भक्तजन झूम उठे अहमदाबाद से आए साईं जगदीश भाई साहब अपने अमृतवाणी में भक्तों को चालिहा उत्सव की बधाई दी। भगवान झूलेलाल का भजन गाया। जो तिन वारो झूलेलाल जो आहे पियारो…,मेलो लग्नो रहे चलिहै जो…,जिए साई जिए लाल दास साई जिए सभिन खा प्यार जुग जुग साई जिए…,पंखीरा ओ पंखीरा भजन पर…।

भक्तों के संग साईं जगदीश साहिब जी सिंधी सेज करने लगे। भक्तजन भी झूम उठे । कार्यक्रम के आखिर में नानक पंजवानी नए भी एक गीत गाया। मां तू कितनी भोली है तू कितनी प्यारी है यह गीत सुनकर कई भक्तों के आंखों से आंसू बहने लगे।

सपना कलवानी, चित्र पंजवानी के द्वारा भी एक भक्ति भजन गाया गया। डॉ.रमेश कलवानी जी के द्वारा छोटी.छोटी ज्ञान भरी बातें बताई गई। पूज्य सिंधी पंचायत चकरभाठा के अध्यक्ष प्रकाश जेसवानी के द्वारा ज्ञानवर्धक एक लघु कथा सुनाई गई। धूनी का आयोजन नानक पंजवानी जी ने अपनी पूज्य स्वर्गीय माता साहिब खेमी पंजवानी की याद में कराई थी। कार्यक्रम 10 बजे आरंभ हुआ 1 बजे समापन हुआ।

साईं जगदीश साहिब जी के द्वारा संत लाल दास, वरुण साईं, ओम साईं , भाभी बरखा ,पूज्य माता साहिब, शोभराज भाई, धरमू भाई का शाल पहनाकर सम्मान किया। पूज्य सिंधी पंचायत चकरभाटा के अध्यक्ष प्रकाश जेसवानी बाबा गुरमुखदास सेवा समिति के सदस्यों ने भी साईं जगदीश भाई साहब का फूलों की माला पहनाकर स्वागत किया।

संत लाल साई ने भी साईं जगदीश भाई साहब जी का शाल पहनाकर सम्मान किया। सिंधु कल्चर एलाइंस फोरम के संरक्षक डॉ.रमेश कलवानी,नानक पंजवानी व पदाधिकारी गण सतीश लाल, जगदीश जज्ञासी ने भी दोनों संत जनों का माला पहनाकर स्वागत किया।

कार्यक्रम के आखिर में आरती की गई। अरदास की गई विश्व कल्याण के लिए पल्लो पाया गया व प्रसाद वितरण किया गया। आयोजन को सफल बनाने में बाबा गुरमुखदास सेवा समिति, झूलेलाल सखी ग्रुप, पूज्य सिंधी पंचायत चकरभाटा, पंजवानी एवं कलवानी फैमिली का विशेष योगदान रहा।

जिनमें प्रमुख नानक पंजवानी,रमेश कलवानी, चित्र पंजवानी, सपना कलवानी, डॉक्टर अभिषेक कलवानी,राजेश कलवानी , ज्ञान पंजवानी, विजय पंजवानी, अनीता पंजवानी, सरिता पंजवानी, राहुल, रोहित, रोशन, श्रुति पंजवानी, प्रकाश केसवानी, कालू मलघानी, विजय दुसेजा प्रकाश चाचा, रमेश टेकचंदानी, विजय लहरवानी सहित सभी सदस्यों का योगदान रहा।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here