मध्यप्रदेश सिंधी साहित्य अकादमी के निदेशक बने राजेश वाधवानी

मध्यप्रदेश सिंधी साहित्य अकादमी के निर्देशक राजेश वाधवानी ने अपना पद भार ग्रहण किया। राजेश वाधवानी ग्वालियर के रहने वाले हैं भारतीय सिंधु सभा युवा शाखा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। सिंधु दर्शन यात्रा समिति के सदस्य हैं, एक पत्रकार हैं, समाज सेवी हैं टीचर है, एक कुशल वक्ता भी है एवं मिलनसार व्यक्तित्व के धनी हैं।

सरलता और मधुरता के साथ साथ सिंधी समाज मे साहित्य और संस्कृति के प्रति उनकी भावनायें और सेवाओं के माध्यम से युवाओं को जागरूक करना, उनकी भिन्न कार्यशैली, योग्यता एवँ नैतिक मूल्यों के कारण उन्हें अकादमी का अध्यक्ष बनाया गया।

जैसे ही खबर छत्तीसगढ़ के लोगों को पता चले सबसे पहले भारतीय सिंधु सभा महिला विंग की राष्ट्रीय महामंत्री विनीता भावनानी व पत्रकार फोटोग्राफर विजय दुसेजा ने तुरंत फोन लगाकर राजेश भाई को बधाई दी। उज्जवल भविष्य के लिए कामना की एवँ समाज के वरिष्ठ जनों ने सन्देश के माध्यम से बधाइयां देते हुए उनके व समाज में भाषा साहित्य संस्कृति के उज्ज्वल भविष्य की भावनाएं व्यक्त की।

धीरे-धीरे खबर छत्तीसगढ़ कई शहरों में फैल गई सभी लोगों ने फोन एवं सोशल मीडिया के माध्यम से राजेश भाई को बधाई दी। समाज के सभी पंचायतों, संस्थाओं के वरिष्ठ जनों का कहना है कि छत्तीसगढ़ में भी जल्द से जल्द सिंधी साहित्य अकादमी के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति की जाए। विगत 3 सालों से यह पद खाली है। उसकी ओर ध्यान देना चाहिए ताकि रुकी हुई गतिविधियां सम्पन्न हो सके।

Leave a Reply