कोविड टीकाकरण के साथ ही होगा पल्स पोलियो टीकाकरण

0

बिलासपुर.प्रदेश में 30 जनवरी से पल्स पोलियो टीकाकरण किया जा रहा है। बिलासपुर में इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई है। जिले में बनाए गए कोल्ड चेन वैक्सीन सेंटर के माध्यम से सभी बूथों में पोलियो की दवा पहुंचाई जाएगी। सीएमएचओ के निर्देश पर इसकी माइक्रो प्लानिंग की जा रही है।

यह अभियान हर बार की तरह इस बार भी स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग सहित अन्य विभागों के सहयोग से सफलता पूर्वक पूर्ण किया जाएगा। सीएमएचओ डॉ प्रमोद महाजन ने बताया पल्स पोलियो अभियान के अंर्तगत शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को दो बूंद जिंदगी की यानी पोलियो की दवा पिलाई जाएगी।

इसके लिए माइक्रो प्लान तैयार किया जा रहा है जिसके तहत टीकाकरण केंद्रों या बूथ में 30 जनवरी को एवं 31 जनवरी तथा 1 फरवरी को घर-घर जाकर छूटे हुए बच्चो को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। हर बार की तरह इस बार भी विभाग यह पूरा ध्यान रखेगा कि कोई भी बच्चा दवा पीने से वंचित न रहे।

आयोजित होने वाले पल्स पोलियो अभियान की जानकारी देते हुए ज़िला टीकाकरण अधिकारी डॉ.मनोज सैम्युअल ने बताया जिले की कुल आवादी 25 लाख से अधिक है। इसमें जीरो से पांच साल तक के बच्चों की संख्या की बात की जाए तो वह लगभग 2.66 लाख के करीब है। इन सभी बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाने के लिए जिले में1948 से अधिक बूथ बनाए जाएंगे।

प्रत्येक बूथ पर 4 सदस्यों की टीम रहेगी। इस टीम द्वारा बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाई जाएगी। डॉ.सैम्युअल ने कहा पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने के लिए 30 जनवरी यानि रविवार को सभी बूथों में दवा पिलाने का कार्य किया जाएगा।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग, एएनएम, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आदि की बनाई गई टीमें सभी क्षेत्रों में घर-घर पहुंचेगीं। यहां वह 0.5 से पांच साल तक के बच्चों की जानकारी लेकर उन्हें दवा पिलाने का कार्य करेंगी।

यदि किसी घर में कोई नहीं है और उसे पोलियो की दवा नहीं पिलाई जा सकी है तो उस घर के दरवाजे पर एक्स मार्क लगाया जाएगा। इसके बाद फिर से उस घर में निर्धारित दिन पर पहुंचकर स्वास्थ्य विभाग की टीम उस बच्चे को दवा पिलाने का कार्य करेगी। ऐसा करके विभाग अपने लक्ष्य को पूरा कर पाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here