कोरोना काल में गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व कोरोना जांच जरूरी- कलेक्टर

गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही. जिले की कलेक्टर नम्रता गांधी ने आज कहा कि गर्भवती माताओं को प्रसव के लगभग 10 दिन या सप्ताह भर पूर्व कोरोना जांच कराना बहुत जरूरी है। इससे न सिर्फ गर्भवती महिला बल्कि उसके होने वाले बच्चे को भी कोविड से सुरक्षा मिलती है। यह जांच सुरक्षित प्रसव और बच्चे के बेहतर स्वास्थ्य के लिये जरूरी है।

कलेक्टर द्वारा स्वास्थ्य विभाग सहित विभिन्न संबंधित अधिकारियों को जमीनी स्तर पर गर्भवती महिलाओं को समझाइस देते हुए लगभग 10 दिन पूर्व कोरोना जांच कराए जाने के निर्देश दिये जा चुके हैं। कलेक्टर ने गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में सही समय पर सभी गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर के निर्देश के बाद जिले के सभी सीएचसी में गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच शुरू कर दी गई है।

इसमें मितानिन का भी पूरा सहयोग लिया जा रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मरवाही से प्राप्त जानकारी के अनुसार विकासखंड मरवाही अंतर्गत कुल 18 गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच की गई है। जांच करने पर सात गर्भवती महिलाएं कोविड पॉजिटिव पाई गई हैं। इसी प्रकार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पेंड्रा में विकासखंड पेंड्रा अंतर्गत अब तक 43 गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच किया जा चुकी है, जिनमें से 2 कोविड पॉजिटिव पाई गई हैं।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गौरेला से प्राप्त जानकारी के अनुसार विकासखंड गौरेला अंतर्गत अब तक 34 गर्भवती महिलाओं की कोविड जांच की जा चुकी है और इनमें से 3 कोविड पॉजिटिव पाई गई हैं। इन गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य देखभाल की निगरानी स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियमित रूप से की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here