राम जी की करे इस तरह से स्तुति, हनुमान हो जाएंगे प्रसन्न

0

राम भक्त हनुमान कलियुग में सबसे प्रभावशाली माने जाते है। इनकी कृपा प्राप्त करनी है तो सबसे पहले श्री राम की स्तुति करना सबसे महत्वपूर्ण होता है। यदि आप हनुमान जी की कृपा प्राप्त करना चाहते है तो इस तरह से करे राम जी की स्तुति।

स्तुति प्रभु श्री राम की

श्री रामचंद्र कृपालु भजमन हरण भव भय दारूणम्।

नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कंजारूणम्।

कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुंदरम्।

पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम्।

भजु दीन बंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम्।

रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नंदनम्।

सिर मुकुट कुंडल तिलक चारू उदारू अंग विभूषणं।

आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर-धूषणं।

इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम्।

मम हृदय कुंज निवास कुरू कामादी खल दल गंजनम्।

मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरू सहज सुंदर सावरों।

करूना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।

एही भांती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली।

तुलसी भवानी पूजि पूनी पूनी मुदिर मन मंदिर चली।

जानि गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाई कहि।

मंजुल मंगल मूल वाम अंग फरकन लगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here