SBI खाता धारी ध्यान दे, कट रहे है अकांउट से पैसे, तो बैंक का जाने जवाब

स्टेट बैंक आफ इंडिया के ग्राहक खाते से राशि कटने के कारण परेशान है। शुरुआत में जब ग्राहकों को लगा कि उनके साथ किसी तरह का साइबर फ्राड हुआ है। ऐसे में परेशान ग्राहकों ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी। इस पर एसबीआई (SBI) ने जवाब देते हुए कहा कि लोगों के साथ किसी तरह का साइबर फ्राड या ठगी नहीं हुई। ये पैसे एसबीआई ने ही काटे है।

बैंक ने बताया कि बैंक अपने ग्राहकों को कई तरह की सुविधाएं देता है। जैसे ग्राहकों का अकाउंट मेंटेन करना, उन्हें डेबिड कार्ड ATM की सुविधा देना, इंटरनेट बैंकिंग INTERNET BANKING की सुविधा देना। इस तरह की सुविधाओं पर होने वाले खर्च को बैंक ग्राहकों से ही वसूलते है। इस बार 147.50रुपये का यह चार्ज एक्टिव एटीएम कार्ड के लिए लिया गया है।

SBI ने ट्विटर पर ग्राहक को उत्तर देते हुए कहा कि यह पैसे मेंटेनेस फीस के रूप में काटे गए है। बैंक के अनुसार इस राशि में 125 + जीएसटी मिलाकर काटे गए है। SBI ने ग्राहकों को दिए गए अपने संदेश में लिखा है कि कभी भी सक्रिय प्रत्येक एटीएम सह डेबिट कार्ड के रखरखाव के शुल्क के रूप में 147.50 रुपए प्रति वर्ष लिया जाता है।
एसबीआई के खाताधारक यदि महीने में पांच बार स्टेट बैंक के एटीएम से पैसे निकालते है या लेन-देन करते है तो कोई शुल्क नहीं लगता। यदि आप स्टेट बैंक के ग्राहक है और स्टेट बैंक के डेबिट कार्ड का उपयोग दूसरे बैंक के एटीएम से करते है तो निःशुल्क लेन-देन की सुविधा बस तीन बार ही मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here