श्री जैन श्वेतांबर समाज का आयोजन, टिकरापारा एवं चोपड़ा भवन में पूजन एवं भक्ति संपन्न

0

पर्युषण पर्व

काजल किरण कश्यपबिलासपुर .श्री जैन श्वेतांबर श्री संघ समाज के द्वारा परम पर्वाधिराज पर्युषण महापर्व 2021 का शनिवार की सुबह विशेष पूजा, सामायिक, कल्प सूत्र का वाचन, शाम को प्रतिक्रमण एवं रात्रि में बच्चे, महिलाओं, पुरुषों के द्वारा कई जैन धार्मिक भक्ति प्रस्तुत किया गया । भक्ति गीतों में नवकार धुन मंत्र…… दुनिया से मैं हारा….. ओ गुरु सा…… जैसे कई भक्ति प्रस्तुत किए गए ।

जैन समाज के अमरेश जैन ने बताया कि पर्युषण महापर्व के दूसरे दिन शनिवार को तेरापंथ समाज का पर्युषण पर्व आज से प्रारंभ हुआ गीतांजलि एनक्लेव कॉलोनी के गेट के बाजू आकाशगंगा के ऊपर हॉल में सामूहिक सामायिक की गई । गुजराती जैन समाज एवं तारबाहर स्थित चोपड़ा भवन में श्री जैन श्वेतांबर श्री संघ द्वारा कई धार्मिक आयोजन संपन्न हुए । समाज की श्रीमती ज्योति चोपड़ा एवं श्रीमती शोभा मेहता द्वारा कल्प सूत्र का वाचन किया गया । रात्रि में भक्ति संध्या में समाज की महिलाओं ने एवं बच्चों ने धार्मिक गीत प्रस्तुत किया गया । भक्ति करने वालों में संगीता चोपड़ा, प्रमिला चोपड़ा, प्रकृति जैन, योगेश चोपड़ा, पूर्वा स्नेहा छाजेड़ थी।

इस अवसर पर विमल चोपड़ा, दिनेश जैन, नरेंद्र मेहता, इंदर चंद बैद, गौतम बाफना, सुनीता जैन, संजीव चोपड़ा, संजय छाजेड़, अजय छाजेड़, कुणाल भयानी, अमरेश जैन, सहित समाज के लोग उपस्थित थे।

गुजराती जैन समाज टिकरापारा
श्री दशाश्रीमाली स्थानकवासी जैन संघ में व्याख्यान देने आए स्वधर्मी बहनों ने प्रवचन में बताया कि जैन धर्म में दो बातें मुख्य रूप से होती है पहला भोजन का परित्याग करना अत: इस 8 दिनों के महापर्व पर्युषण में तप, उपवास आयंबिल करके भोजन का त्याग करना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा धर्म ध्यान सामायिक, प्रतिक्रमण करना चाहिए । दूसरी बात यह कही की अहिंसा और प्रेम भाव रखना अर्थात जैन धर्म के सभी लोगों को भेदभाव, दुश्मनी को बुलाकर प्रेम भाव और सद्भावना से मिलजुल कर रहना चाहिए । इसके लिए एक दूसरे से क्षमा मांग कर झगड़े को समाप्त करना चाहिए। जीव दया के भाव रखने चाहिए सही स्थानों में दान करना चाहिए अपने परिवार के कमजोर रिश्तो को मजबूत बनाना चाहिए ।

इस अवसर पर समाज के अध्यक्ष भगवानदास सुतारिया, कीर्ति सुतारिया, प्रवीण दामाणी, मनु भाई मिठाई, शरद जोशी, शिरीष जोशी, गोपाल वेलाणी, राजू तेजाणी, मनीष शाह, दीपक गांधी, सुधा गांधी, उषा शाह, संगीता दामाणी भाविका तेजाणी, वत्सला कोठारी, शोभना सुतारिया, सरला दमानी, छाया देसाई, वंदना दोषी, आशा दोषी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here