कोविन पोर्टल से कोविड वैक्सीनेशन की ऑनलाइन निगरानी, टीकाकरण के लाभार्थी को एस.एम.एस. से मिलेगी सूचना

0

बिलासपुर. लोगों तक सुरक्षित एवं पारदर्शी तरीके से कोरोना वैक्सीन पहुँचाने के लिए सरकार काफी तेज़ी से अपने सिस्टम को अपग्रेड कर रही है।

इसी क्रम में अब कोविन कोरोना वैक्सीन इंटेलीजेन्स नेटवर्क पोर्टल पर प्राथमिकता के आधार पर एकत्र की गयी जानकारियों को फीड किया जा रहा है।

इसी पोर्टल के माध्यम से सरकार कोविड वैक्सीनेशन के वितरण की ऑनलाइन निगरानी भी करेगी। एस.एम.एस. के माध्यम से मिलेगी सूचना कोविन पोर्टल से ही लाभार्थी को एस.एम.एस. के माध्यम से सूचना मिलेगी

कि उसको किस दिन और कहां पर कोविड वैक्सीन लगाई जायेगी। इसके लिए पोर्टल पर डेटा फीडिंग का कार्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा तेजी से किया जा रहा है।

कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है।

सब कुछ ठीक रहा तो यह सम्भावना है कि जनवरी माह से कोविड वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हो सकता है। जिसमें सर्वप्रथम सरकारी व निजी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रतिरक्षित किया जाएगा।

कोविन पोर्टल से होगी निगरानी

इस बारे में बिलासपुर के जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. मनोज सैम्युअल ने बताया कोविन पोर्टल पर लाभार्थियों के पंजीकरण का कार्य किया जा रहा है।

इसके साथ ही कोरोना वैक्सीन के रखरखाव के लिए कोल्ड चैन हैंडलर्स को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

उन्होंने बताया ऐसी सम्भावना है कि कोरोना की वैक्सीन इंट्रा मस्कुलर होगी एवं लाभार्थी को इसके दो डोज दिए जाने की सम्भावना है।

साथ ही उन्होंने यह भी जानकारी दी कि कोविन पोर्टल के माध्यम से सरकार की ओर से टीकाकरण की ऑनलाइन निगरानी भी की जाएगी।

जिसके लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। वैक्सीन के लिए कोल्ड चैन से लेकर उसे सुदूर और जटिल इलाकों तक पहुंचाने के लिए जिला स्तर पर समन्वय समितियां भी बनाई गयीं है।

सरकारी व निजी स्वास्थ्य कर्मियों को पहले मिलेगी वैक्सीन

कोविड वैक्सीनेसन के लिए सरकारी व निजी स्वास्थ्य कर्मियों को सबसे पहले प्रतिरक्षित करने की योजना है। इसके लिए ब्लाकवार डेटा फीड किया जा रहा है।

टीकाकरण के लिए तीन बिन्दुओं को प्राथमिकता दी गयी है। पहला टीकाकरण सत्र है, इसमें तिथि के बारे में बताया जाएगा। दूसरा स्थान होगा

जिसमें टीकाकरण की जगह के बारे में जानकारी दी जायेगी और तीसरा लाभार्थी का विवरण है जिसमें नाम, पता, मोबाइल नंबर, पिन कोड, पहचान पत्र तथा विभागीय आईडी का विवरण दर्ज होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here