अशुभ होने पर मंगल देता है जीवन में परेशानी, जाने उपाय

1

ज्योतिषशास्त्र में नौ ग्रहों का विशेष महत्व माना जाता है। इनमें प्रत्येक ग्रह का अपना अलग महत्व होता है। मंगल ग्रह (Mars)भी उन्हीं में से एक है। मंगल ग्रह यदि अशुभ हो जाए तो जीवन में अमंगल लाता है। मंगल के अशुभ होने पर जीवन में कलह उत्पन्न हो जाता है। खास तौर पर दाम्पत्य जीवन में तनाव की स्थिति होती है।

ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी के मुताबिक मंगल ग्रह (Mars) के कारण जन्म कुंडली में मांगलिक दोष बनता है। विवाह से पूर्व जब वर वधु की जन्म कुंडली का मिलान किया जाता है तो सर्वप्रथम मंगल की स्थिति को देखा जाता है।

कुंडली के केन्द्र में मंगल ग्रह (Mars)बैठ जाए तो मांगलिक दोष का निर्माण होता है। वहीं जब मंगल राहु के साथ संबंध बना लेता है तो अंगारक योग का निर्माण होता है। अंगारक योग को ज्योतिष शास्त्र में खतरनाक योगों में से एक माना गया है।

पति और पत्नी के रिश्ते को करता है प्रभावित

मंगल खराब होने पर पति और पत्नी के रिश्तों को प्रभावित करता है। रिश्तों में दरार लाने का काम भी करता है। इस कारण पति और पत्नी में विवाद की स्थिति बनी रहती है। मंगल दाम्पत्य जीवन में मानसिक तनाव की स्थिति भी उत्पन्न करता है। इसलिए मंगल ग्रह की अशुभता को दूर करना बहुत जरूरी होता है।

यह फल देता है मंगल

मंगल ग्रह जब खराब होता है तो व्यक्ति की वाणी को खराब कर देता हे। ऐसे लोग सदैव उग्रता लिए होते है। क्रोध बहुत जल्दी आ जाता है। जिस कारण कभी ऐसे लोग हिंसक भी हो जाते है। ऐसे लोगों के स्वभाव में विनम्रता का अभाव दिखाई देता है। ऐसे लोग लड़ाई-झगड़े के लिए हमेशा तैयार रहते है।

मंगल दोष से बचने उपाय

मंगल की अशुभता को दूर करने के लिए हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। मंगलवार का व्रत रखना चाहिए। घर में हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। दिन में एक समय का भोजन बिना नमक के करना चाहिए। बंदरों को गुड़ और चने खिलाने से भी मंगल का दोष कम होता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here