चंदा दिवस के अवसर पर ऑनलाइन मां गंगा दर्शन कराया गया

0

पूज्य शदाणी दरबार तीर्थ द्वारा आयोजित चंद्र का सत्संग- संतो के संग में इस चंद्र दिवस पर हरिद्वार से आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद जी महाराज ने भक्तों को आशीर्वाद दिया | महाराज श्री ने मां गंगा के किनारे बैठ कर सभी श्रद्धालुओं को मां गंगा के दर्शन कराएं सभी भक्तों को साधुवाद दिया और उन्होंने अपने आशीर्वचन में यह बताया कि जिस प्रकार मां गंगा का स्नान करने से व्यक्ति के शारीरिक पाप उतर जाते हैं और वह शुद्ध हो जाता है उसी प्रकार किसी संत के दर्शन से मन और आत्मा शुद्ध हो जाते है व्यक्ति को अद्यात्मिक उन्नति करना है तो सदैव संत दर्शन करते रहना चाहिए और संतों के बताए रास्ते पर चलता रहे तो निश्चित ही वह उस लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है जो वह चाहता है|

अध्यात्म के बिना मानव का जीवन अधूरा है अतः सदैव आध्यात्मिक बने रहना चाहिए उन्होंने शदाणी दरबार के वर्तमान पीठाधीश्वर संत श्री डॉ युधिष्ठिर लाल जी महाराज के बारे में प्रशंसा करते हुए कहा कि जिस प्रकार द्वापर में श्रीकृष्ण ने आकर इस धरा पर लीलाएं रची उसी प्रकार वर्तमान में संत श्री युधिष्ठिर लाल जी महाराज ऐसी लीलाएं कर रहे हैं और अपने भक्तों को अध्यात्म की ओर ले जा रहे है

कार्यक्रम की शुरुआत सुमनऔर गायत्री के द्वारा श्री गणेश वंदना, शदाणी वंदना से हुई पूज्य संत श्री ने सभी श्रद्धालुओं से कोरोना के नियम पालन करने के लिए कहा,सभी स्वस्थ रहें ऐसा उन्होंने आशीर्वाद दिया,सदैव योग करते रहना चाहिए, प्राणायाम करते रहना चाहिए,अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें ऐसे कुछ निर्देश देते हुए सभी भक्तों को परमात्मा का भजन करते रहने के लिए कहा और मातृशक्ति को निर्देश देते हुए कहा कि जब भी आप भोजन तैयार कर रहे हैं तो भोजन तैयार करते वक्त परमात्मा का ध्यान करें किसी मंत्र का उच्चारण करते रहे और प्रार्थना करते रहे कि घर के सभी सदस्य स्वस्थ रह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here