छत्तीसगढ़ के इस जगह पर भगवान राम ने की थी बागेश्वरनाथ शिवलिंग की पूजा, जाने विस्तार से

0

छत्तीसगढ़ प्रदेश से भगवान राम का क्या नाता है लोगों को भली-भांति पता है। जब भगवान श्री राम वनवास पर निकले थे तब वे प्रदेश के कई स्थानों से गुजरते थे। उनके चरण ने इस धरती को पवित्र कर दिया है। इस लेख के माध्यम से हम प्रदेश के एक महत्वपूर्ण मंदिर के विषय में बताएंगे।

जहां पर भगवान राम ने बागेश्वरनाथ शिवलिंग की पूजा की थी। प्रदेश में आरंग को मंदिरों की नगरी के नाम से जाना जाता है। यहां पर 11वीं सदी का शिव मंदिर है। कहते है भगवान रामचंद्र जब 14 साल के वनवास के लिए अयोध्या से निकले थे। तो वे भारत के करीब 300 स्थानों से होकर गुजरे थे।

उन्हीं 300 स्थानों में से एक है आरंग। भगवान राम ने यहां पर भगवान शंकर के बागेश्वरनाथ शिवलिंग की पूजा की थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि बागेश्वरनाथ मंदिर पुरातन है। वनवास के दौरान भगवान राम, देवी सीता और भाई लक्ष्मी के साथ पहुंचे थे।

108 स्तंभों में मंदिर का निर्माण

इस प्राचीन मंदिर के निर्माण में कुल 108 स्तंभ है। जिसमें 24 स्तंभ मंडप गृह पर है। मंदिर का गर्भ गृह देखने से ऐसा लगता है कि यह किसी योग्य कुंड के ऊपर स्थापित किया गया है।

सफलता प्रदान करते है महादेव

इस मंदिर में विराजमान बागेश्वर नाथ की पूजा-अर्चना करनेे से लगातार सफलताएं प्राप्त होती है। यह मंदिर सिद्ध पीठ है। यहां आचार्य-साधक हमेशा पूजा-अर्चना करने आते रहते है। सफलता प्रदान करने वाले है बागेश्वर महादेव।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here