भगवान महावीर जन्म कल्याणक महापर्व धूमधाम से मनाया गया

0

बिलासपुर. वर्तमान शासन नायक भगवान महावीर की 2620 वीं जयंती सकल जैन समाज द्वारा अपने अपने घरों में पूजन-पाठ, दीपक जलाकर, बेजुबान जानवरों को भोजन, वृक्ष लगाकर अलग-अलग तरीके से सामाजिक, धार्मिक कार्य करते हुए घर पर एवं सुरक्षित होकर इस महापर्व को मनाया।

साथ ही ऑनलाइन तीनो मंदिरजी में अभिषेक, शांति धारा के लाइव प्रसारण के साथ हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। भगवान महावीर जन्म कल्याणक महापर्व को की शुरुआत सकल जैन समाज के घरों में सुबह से ही विशेष पूजा-पाठ एवं प्रातः 7 बजे से सरकंडा मंदिर जी मे अभिषेक प्रारम्भ हुआ ।

जिसका लाइव प्रसारण किया गया । इसके पश्चात क्रान्तिनगर मंदिर जी एवं सन्मति बिहार में मूलनायक श्री भगवान महावीर के अभिषेक और शांतिधारा का भी सीधा प्रसारण किया गया। जिसका लाभ बिलासपुर जैन सभा के सभी धर्मावलंबियों ने लिया ।

इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण अन्य सभी सामूहिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए थे। सभी मे अपने घरों में ही पूजन-पाठ कर महावीर जयंती मनाई। जैन सभा के अध्यक्ष वीर कुमार जैन ने अपने ऑनलाइन उद्बोधन में समाज के सभी लोगों को शुभकामनाएं दी और कहा कि वर्तमान में जब पूरी धरती कोरोना महामारी के चपेट में है, मानव जाति पर गहरा संकट छाया हुआ।

लोग बिना मौत मर रहे है, ऐसे में हमे आवश्यकता है, भगवान महावीर के दिये गए पांच सिद्धान्तों को स्मरण करने की एवं उनके अनुशरण करने की। हमें ऐसे समय मे संयम का पालन करना चाहिए। लोगों के प्रति सेवा भावना रखना और जरूरतमंद लोगो की सहायता करना चाहिए। सत्य औऱ अहिंसा के मार्ग पर चलकर ही मानव जाति का कल्याण संभव है।

मंदिर से हुआ सीधा प्रसारण

अभिषेक के सीधे प्रसारण में जैन सभा बिलासपुर के कार्यकरिणी सदस्यों का योगदान सराहनीय रहा। लगभग 70 परिवारों ने ऑनलाइन जुड़कर महावीर जयंती को उत्सव की तरह मनाया। संरक्षक प्रवीण जैन, विनोद जैन, सनत जैन, प्रो अमित जैन, दीपक जैन अंशु, सुनील जैन का विशेष सहयोग रहा।

पूजा, वृक्ष, बेजुबान जानवरों को भोजन की पहल

समाज के कई परिवार जिसमें मंदिरों के अलावा नेहरू नगर निवासी विमल चोपड़ा के निवास में स्थित मंदिर जी में पूजा पाठ, गोपाल वेलाणी एवं समाज के कई परिवारों के द्वारा घर पर जाप, महिपाल पूर्णिमा सुराणा परिवार द्वारा वृक्षारोपण, जयेश तेजाणी परिवार द्वारा बेजुबान जानवरों को भोजन, शिल्पी, राखी डाकलिया द्वारा घर में मंदिर जी को लाइट से की विशेष सजावट, घर की महिला एवं बच्चों ने घरों को रंगोली, लाईट से सजाया

इस तरह से समाज के विभिन्न घरों में इस महापर्व को बड़े ही धूमधाम से मनाया गया । दोपहर को बिलासपुर जैन समाज द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर मूक पशुओं, जानवरों के लिए भोजन और चारे के इंतजाम किया गया । शाम को तीनों मंदिर जी मे आरती मंदिर के पुजारियों के द्वारा सम्पन्न कराई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here