जीवन एक संघर्ष है इसका मुकाबला करना हमारे लिए कसौटी है – जैन मुनि पंथक

0

बिलासपुर-जीवन एक संघर्ष है, और इसका मुकाबला करना हमारे लिए कसौटी है। प्रत्येक मनुष्य के जीवन कसौटी भरा है, और ऐसी प्रत्येक कसौटी में हमें सिखाती है कि जीवन में क्या करना है, कैसे करना है, कहां जाना है और यह भी सिखाता कि हमारे जीवन में हताश होने की जरूरत नहीं है । उक्त बातें प्रवचन के माध्यम से टिकरापारा स्थित जैन भवन में परम पूज्य गुरुदेव पंथक मुनि ने ऑनलाइन व्याख्यान में कहीं ।


मुनि श्री ने समझाया कि जीवन को बोझ भी नहीं बनाना है । ऐसी जो भी कसौटी आती है ।वह हमारे जीवन का उत्थान करने के लिए आती है ना कि हमें परेशान करने को आती है । जीवन में ऐसी कोई परेशानियाँ आती रहती है । जो कि आर्थिकए शारीरिक, मानसिक आदि स्वरूप की होती है और यह लगातार आती ही रहती है । इसे कसौटी के रूप में लेना चाहिए । ऐसी जो भी परेशानी होती है जो कई प्रकार की सुनहरा मौका के रूप में स्वीकार करना चाहिए, क्योंकि यह प्रगति स्वरूप भी हो सकती है ।


अपने जीवन में सभी परिस्थितियों सही चल रही होती है। तभी सुख का अनुभव होता है । और ऐसी अनुभूती जीवन में बहुत कम प्राप्त होती है । इसका मतलब यह है कि हर व्यक्ति के जीवन में कोई ना कोई कसौटी आने ही वाली है । तब उसे लाभप्रद कैसे हो ऐसी कला का होना हमारे लिए जरूरी है ।
हमें हमारे निश्चित कार्य को करने के लिए जितना समय लगे उतना समय हमें मिलता नहीं है ,और उस कार्य को पूर्ण करने के लिए हम हमेशा उथल.पुथल करते ही रहते हैं । उसके लिए हम परिवार को आसपास के लोगों को दोषी मानते हैं । फिर कभी-कभी मन में ऐसा संकेत आता है कि सभी के सभी कार्य कभी पूर्ण होता नहीं है ।

इसके लिए सभी को दोषी क्यों मानता है । इस ख्याल को जीवन में आत्मसात करेंगे तो जीवन में शांति मिलेगी। जो भी परिस्थिति जीवन में आती है उसे वैसे ही स्वीकार करने से शांति के साथ हमार निर्धारित उद्देश्य भी पूर्ण होगा और परिवार और सहकारी भी शांति से जीवन व्यतीत करेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here