मां लक्ष्मी की पूजा का सही समय, मुहूर्त व पूजन सामग्री के विषय में जाने, यहां

0

दीपों का त्योहार दीपावली हर बार की तरह इस बार भी कार्तिक अमावस्या को मनाई जाएगी। 14 नवंबर यानी की शनिवार को मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा की जाएगी। शाम 5 बजकर 40 मिनट से रात 8 बजकर 15 मिनट तक पूजा का शुभ मुहूर्त है। ऐसे में इस पर्व के महत्व, विधि और पूजन सामग्री के विषय में विस्तार से ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी बताएंगे।

दीपावली का शुभ मुहूर्त

दीपावली की पूजा कार्तिक अमावस्या की तिथि को होती है। इस बार पंचागों में अलग-अलग तिथि का उल्लेख दिया है। लेकिन दीपोत्सव का पर्व रात में महत्वपूर्ण होता है। इसलिए 14 नवंबर को ही मां लक्ष्मी की पूजा की जाएगी। शाम 5 बजकर 40 मिनट से रात 8 बजकर 15 मिनट तक पूजा का शुभ मुहूर्त है।

राशि के मुताबिक मां लक्ष्मी की आराधना करे ऐसे, जाने यहां

यंत्र-तंत्र की पूजा जरूरी

मां लक्ष्मी के साथ-साथ दीपावली के दिन श्री यंत्र की पूजा भी की जाती है। 2020 की दीपावली गुरु धनु राशि में रहेगा। यहीं कारण है कि श्री यंत्र की पूजा कच्चे दूध से करने से सभी राशि के जातकों को लाभ होगा। इधर शनि अपनी मकर राशि में विराजमान होगी। साथ ही साथ इस दिन अमावस्या का भी योग बन रहा है ऐसे में इस दौरान भी तंत्र-यंत्र की पूजा करनी चाहिए।

राशि के मुताबिक मां लक्ष्मी की आराधना करे ऐसे, जाने यहां

दीपावली की पूजा सामग्री

मां लक्ष्मी और श्री गणेश के पूजा-पाठ के लिए कुमकुम, चावल, रोली, सुपाड़ी, पान, लौंग, इलायची, नारियल, अगर बत्ती, रूई बत्ती, मिट्टी दीपक, दूध, दही, गंगाजल, शहद, फल, फूल, चंदन, सिंदुर, पंचमेवा, पंचामृत, श्वेत लाल वस्त्र, पाटा, कलश, जनेऊ, बताशा, कमल गट्टा, शंख, माला, एक आसन, हवन कुंड, आम के पत्ते, लड्डू, मिठाई व अन्य जरूरत की सामग्री।

भगवान गणेश है मां लक्ष्मी के दत्तक पुत्र, पढ़े पौराणिक कथा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here