स्कूल से शुरू हुआ रूचिका के गाने का सफर, अब गायकी के क्षेत्र में कर रही है अपना नाम

0

संगीत की साधना करना बहुत ही कठिन माना जाता है। लेकिन जो भी संगीत की साधना में जुटकर रियाज करता है और संगीत की बारिकियां सीखता है उस पर मां सरस्वती की कृपा होने लगती है। शहर की युवा गायिका रूचिका विंचुरकर भी स्कूल के समय से संगीत की साधना में जुटी है और लगातार अपने गायन को बेहतर करते हुए आगे बढ़ रही है।

रूचिका ने अपने इस हुनर से शहर में पहचान बना रही है। रूचिका उन युवाओं के लिए उदाहरण बनकर सामने आ रही है जो अपने सपनों को साकार करने के लिए कड़ी मेहनत करते है। रूचिका के संगीत से जुड़ने का सफर उसके स्कूल से शुरू हुआ। इस लेख से रूचिका के विषय में विस्तार से बताएंगे।

माता-पिता ने बढ़ाया है हौसला

रूचिका ने बताया कि उसके हुनर को निखारने का कार्य में सबसे बड़ा हाथ माता स्वरांजलि विंचुरकर व पिता सुनिल विंचुरकर का है। उन्होंने रूचिका को प्रोत्साहित किया और हुनर को निखारने के लिए इस क्षेत्र में आगे बढ़ने मार्गदर्शन किया। रूचिका को संगीत की शिक्षा दिलाई ताकि वह गायक के तौर पर बेहतर गायन कर सके।

संगीत की शिक्षा ले रही रूचिका

रूचिका ने बताया कि वह अपने इस शौक को अपना करियर बनाना चाहती है। इसलिए इस क्षेत्र में ही शिक्षा ग्रहण कर रही है। संगीत की शिक्षा कुदुदंड में गुरु किशोर दुबे से प्राप्त कर रही है। गुरु के मार्गदर्शन में संगीत की बारिकियां सीख कर अपने गायकी को और बेहतर कर रही हैं।

बिना किसी प्रशिक्षण के सतीश ने कलाकार के रूप में बनाई अपनी पहचान, जाने विस्तार से

मिले है कई सम्मान

रूचिका ने शहर के कई मंच में गायन किया है। उभरती हुई युवा कलाकार है और रूचिका के हुनर को पहचानकर लोग उसे प्रोत्साहित भी कर रहे है। इसलिए कई मचं में रूचिका को गायन के लिए बुलाया जाता है। शहर के बाहर भी रूचिका गायन के लिए जाती है।

रूचिका के गायन के बाद उन्हें कई पुरस्कारों से नवाजा भी गया है। जिसमें पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल से सम्मानित हुई है। कार्निवाल 2016 में सम्मान मिला। रायगढ़ में गीतांजलि संगीत समारोह में सम्मानित हुई। इसके अलावा भोपाल में सरगम के सितारे अवार्ड मिला।

हर तरह के गाने गाती है रूचिका

रूचिका भजन, शास्त्रीय संगीत तो गाती ही है। इसके अलावा फिल्मी गाने भी गाती है। रूचिका ने मंचों में सदाबहार नगमों की प्रस्तुति देते हुए लोगों के बीच खूब वाह-वाही बटोरी है। वहीं रूचिका घर पर हर रोज गायन करती है। नए पुराने फिल्मी गीत गाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here