मल्हार में भू-गर्भ में विराजमान है महादेव पातालेश्वर के रूप में, जाने कैसे

7

प्रदेश में महादेव अलग-अलग रूपों में विराजमान है। उनके प्रत्येक रूप का भी अलग महत्व है। पुरातात्वीक स्थल के तौर पर प्रसिद्ध बिलासपुर जिले के 34 किलोमीटर दूर स्थित नगर पंचायत मल्हार में भी भोले नाथ पातालेश्वर महादेव के रूप में विराजमान है। इस मंदिर को अनोखा व अद्भूत माना गया है। यहां महादेव का शिवलिंग भू-गर्भ में विराजमान है। माना जाता है कि यहां पर अर्पित किया गया जल सीधे पाताल लोक पहुंचता है। इस मंदिर में महादेव के इस अलौकिक रूप के दर्शन करने सिर्फ प्रदेश नहीं बल्दि पूरे देश भर से लोग आते है। वहीं विदेश से भी इस मंदिर के विषय में अध्ययन करने के लिए इतिहासकार समय-समय पर पहुंचते है। यह मंदिर आखिर इतना प्रसिद्ध कैसे हुआ। इससे जुड़ी हुई बातों को हम इस लेख के माध्यम से बताने का प्रयास कर रहे है।


० 108 कोण बने है पातालेश्वर महादेव के मंदिर में
पातालेश्वर महादेव की महिमा को शिव भक्त समझते है। इस मंदिर की बनावट भी बहुत ही अलग है। इसकी विशेषता है कि यहां पर मंदिर में 108 कोण है। इसके विषय में कहा जाता है कि एेसा मंदिर कहीं भी नहीं है। स्थानीय नागरिक डॉ.अभिषेक सिंह ठाकुर ने बताया कि मंदिर में काले चमकीले पत्थर की गौमुखी आकृति की शिवलिंग है। इस मंदिर में बहुत से चमत्कार देखने को मिलते है। मंदिर की बनावट व यहां के शिवलिंग के विषय में जानने के लिए विदेशों से भी लोग कई बार पहुंचे है।


० ब्राह्मण सोमराज ने कराया था निर्माण
पातालेश्वर मंदिर का निर्माण कल्चुरी राजाओं ने कराया था। मंदिर का निर्माण दसवीं से तेरहवीं शताब्दी के मध्य कराया गया था। सोमराज नामक एक ब्राह्मण ने मंदिर का निर्माण कराया था। मंदिर के शिवजी की गोमुखी प्रतिमा स्थापित की थी। जो आज भी है।


० पाताल में पहुंचता है जल
माना जाता है कि यहां पर भगवान शंकर की जलहरी में अर्पित किया हुआ जल पाताल लोक पहुंचता है। इसलिए इसे पातालेश्वर कहा गया है। मंदिर में गंगा, यमुना नदी की प्रतिमा के साथ ही भगवान शंकर, माता पार्वती, गणेश व नंदी के बेजोड़ अंकन है।


० कैसे पहुंचे
बिलासपुर से मस्तुरी मार्ग पर लगभग 34 किलो मीटर की दूरी पर मल्हार नगर पंचायत है। नगर पंचायत में प्रवेश के १ किलोमीटर अंदर ही महादेव का यह अद्भूत मंदिर है। यहां पर सावन सोमवार व महाशिवरात्रि में विशेष पूजन होता है। महाशिवरात्रि में 15 दिनों का मेला भी लगता है।

7 COMMENTS

  1. 🙏श्री पातालेश्वर महादेव की जय🙏

  2. Through this article people will get motivated and they will research more about such article and news..
    Thanks

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here