व्यंकटेश मंदिर में भगवान रंगनाथ के साथ कराया गया देवी गोदाम्बा का विवाह

1

बिलासपुर. व्यंकटेश मंदिर में श्री गोदम्बा महोत्सव का आयोजन किया गया। उत्सव के मध्य में भगवान रंगनाथ का देवी गोदाम्बा के साथ विवाह करते हुए विवाह महोत्सव धूमधाम से किया गया।

5 बजे से मंदिर में दिव्य शहनाई बजाई गई। मंदिर परिसर में विवाहोत्सव का आयोजन बड़े ही भव्य रूप से किया गया। मंदिर परिसर को सुंदर फूलों से सजाया गया। मंडप सजाकर विधि-विधान से विवाह की रस्में पूरी की गई।

वैष्णव संप्रदाय के गोपाल कृष्ण रामानुज दास ने बताया कि मंगला आरती के साथ मंगलमय विवाह प्रारंभ हुआ। बैंड-बाजे के साथ भगवान की बारात निकाली गई । मंदिर परिसर में दिव्य पुष्पों से सुसज्जित मंडप में पधारे द्वारचार के पश्चात भगवान की आरती उतारी गई ।

वैदिक मंत्रों से देवी गोदांबा जी ने भगवान रंगनाथ को वरमाला पहनाया। भगवान रंगनाथ जी ने गोदाम्बा को स्वीकारा तत्पश्चात भगवान रंगनाथ के द्वारा उदयवीर गोदांबा को श्री चिन्ह सिंदूर लगाया और मंगल फेरे लिए मंदिर के पुजारी भगवान रंगनाथ के श्री विग्रह को लेकर आगे चल रहे थे और मंदिर के महंत देवी गोदांबा के श्री विग्रह को लेकर अग्नि के साथ फेरे किए।

भक्तों ने पुष्पों की वर्षा कर जय कारा लगाया। सप्तपदी, तुलसी अर्चना, कुमकुम अर्चना, मंत्रो उच्चारण के पश्चात सभी भक्तों को विशेष गोष्टी प्रसाद का वितरण किया गया । जिसमें गाय के दूध से बनी खीर पोंगल मिठाई, मिक्सचर, लड्डू, कचौड़ी, चने का प्रसाद आदि विशेष पकवान परोसे गए।

इस अवसर पर सभी ने बैंड बाजों के धुन पर भक्तों ने थिरक कर भगवान के विवाह महोत्सव का आनंद लिया। लॉकडाउन के बाद भी सैकड़ों की संख्या में भक्तजन मंदिर पहुंचे और विवाह में सम्मिलित हुए ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here