विश्व कल्याण की कामना से गायत्री परिवार का गृहे-गृहे यज्ञ कार्यक्रम किया गया

Gayatri family's griha-griha yagya program was performed in the wish of world welfare
विश्व कल्याण की कामना से गायत्री परिवार का गृहे-गृहे यज्ञ कार्यक्रम किया गया

अंतर्राष्ट्रीय गायत्री परिवार की ओर से वर्ष 2017 से 2026 तक 9 वर्ष विशेष जप-साधना का कार्यक्रम गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ उपासना के अंतर्गत लाखों परिजनों से कराते हुए सर्वजन सुखाय, पर्यावरण संवर्धन व संरक्षण, समर्थ राष्ट्र निर्माण, वैचारिक उत्कृष्टता, समाज में छायी हुई विकृतियों, दुष्प्रवृत्तियों के उन्नमूलन तथा सत्प्रवृत्तियों के संवर्धन के लिए आध्यात्मिक प्रयोग सामूहिक स्तर पर पूरे विश्य में किया जा रहा है।

देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रति कुलपति डाॅ.चिन्मय पंड्या ने गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ व आपदा प्रबंधन वाहिनी छत्तीसगढ़ के पुनीत कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ जोन समन्वयक दिलीप पाणिग्रही को बधाई व आशीर्वाद देते हुए सबके उज्ज्वल भविष्य की कामना मां गायत्री व गुरु सत्ता से किए है।

यह भी संदेश दिए कि इस समय शासकीय नियमों का ध्यान रखते हुए सुरक्षा के लिए टीकाकरण कार्यक्रम में जागरूक रहे। सभी लोगों को प्रेरित भी करे। तीन मई के कोरोना महामारी के निवारण के अंतर्गत यज्ञ उपजोन समन्वयक सीपी सिंह के मार्गदर्शन में किया गया। साथ ही उन्होंने गुरुदेव का संदेश देते हुए कहा कि 21वी सदी बनाम उज्ज्वल भविष्य और यह युगसंधि बेला है।

जिसमें परिवर्तन को जानने के लिए हमें उनकी पुस्तक महाकाल का युग प्रत्यावर्तन प्रक्रिया पढ़ना चाहिए और मनोबल बढ़ाने के लिए नियमित साधना उपासना करे। गायत्री शक्तिपीठ के द्वारिका प्रसाद पटेल ने कहा कि एक ही समय में एक ही उद्देश्य के लिए की गई सामूहिक उपासना जप, यज्ञ की यह प्राचीन वैदिक परंपरा राष्ट्र रक्षार्थ विश्व कल्याण जैसी भावनाओं के साथ की जाती है।

तो सूक्ष्म जगत में व्यापक परिवर्तन होता है और भविष्य उज्ज्वल बनता है। जिाल समन्वयक नंदिनी पाटनवार ने कहा कि नित्य यज्ञ के साथ सभी सांय 6 बजकर 20 से 6 बजकर 30 बजे तक कोरोना निवारण के लिए गायत्री महामंत्र का जाप पूज्य गुरुदेव की आवाज में यू-ट्यूब में डाउन लोड करके सभी अवश्य ही करे। राजकुमार श्रीवास ने कहा कि साधना व सुरक्ष व्यवस्था की सजगता ही हमें संरक्षित करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here