सनातन धर्म को गायत्री परिवार ने जीवित रखा है- रश्मि सिंह

0

बिलासपुर. गनियारी में 5 कुंडीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कोरबा से पहुचे गायत्री परिवार(Gaytri Pariwar) के टोली द्वारा संगीतमय कथा का वाचन कर यज्ञ सम्पन्न कराया गया। समापन अवसर पर विद्यारंभ, मुंडन, यज्ञोपवीत संस्कार किया गया।

समापन अवसर पर संसदीय सचिव तख़तपुर विधायक रश्मि आशिष सिंह ठाकुर ने कहा कि आज घर घर मे जो महायज्ञ हो रहा है वह गायत्री परिवार और आचार्य श्रीराम शर्मा की देन है। हमारी भूपेश सरकार ने इस वर्ष पूरे प्रदेश में सामूहिक विवाह किया है।

जहाँ सभी जगहों पर गायत्री परिवार के टोलियो द्वारा सम्पन्न कराया गया है जो गर्व का विषय है, कई कर्मकांड करने वाले है लेकिन गायत्री परिवार ही सनातन की रक्षा करने में सबसे आगे है। जिसके कारण ही सबसे ज्यादा विस्वास गायत्री परिवार पर लोगो को है, मैं स्वयं ही बचपन से अखंड ज्योति नियमित पढ़ती हूं, प्रणव पाण्ड्यया जी का भी काफी योगदान है।

इस अवसर पर शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद नायक, ग्रामीण अध्य्क्ष विजय केशरवानी ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि हम गायत्री परिवार के इस आयोजन में भागीदार बने है। धर्म और संस्कृति को बढ़ावा देने में हमारी सरकार कटिबद्ध है, जब भी जरूरत हो, हम लोग हाजिर हो जाएंगे।

डॉ.सोमनाथ बिहार में आदिवासी मित्र साहित्य सम्मान से हुए सम्मानित

सभी श्रद्धालुओं को पुण्य लाभ लेने के लिए बधाई भी दिए। संचालन रवि मेहर पूर्व अध्यक्ष नगर पंचायत सकरी ने किया। आभार प्रदर्शन संतोष श्रीवास एवं बलराम श्रीवास ने किया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं का सम्मान किया गया।

कथावाचक घनश्याम साहू जी ने बताया कि गायत्री मंत्र का भावार्थ बताते हए कहा कि गुरुदीक्षा लेने के बाद नित्य उपासना, साधना और आराधना करना चाहिए। बच्चो को पूरा ध्यान पढ़ाई पर देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here