वेबिनार के माध्यम से विशेषज्ञों ने अप्रोच टू अ हीमोग्राम विषय पर रखे अपने विचार

0

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान बिलासपुर के पैथोलॉजी विभाग द्वारा बुधवार को एक वेबिनार का आयोजन किया गया। चिकित्सा शिक्षा संचालक एवं संरक्षक डॉ. आरके सिंह के मार्गदर्शन में आयोजित इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सिम्स की डीन डॉ. तृप्ति नगरिया रहीं।

कार्यक्रम में दिल्ली स्थित फोर्टिस अस्पताल के रक्त विकार विशेषज्ञ डॉ. राहुल भार्गव एवं डॉ. सचिन जैन ने रक्त विकारों के निदान व आधुनिकतम उपचार विषय पर अपने विचार रखे। इस दौरान सिम्स के पैथोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष संचालक सह प्राध्यापक डॉ. भानुप्रताप सिंह ने भी रक्त रोगों के निदान से संबंधित महत्वपूर्ण जांच अप्रोच टू अ हीमोग्राम विषय पर अपने विचार रखे।

डॉ. भानुप्रताप सिंह ने कहा इस तरह के आयोजन से न सिर्फ पैथोलॉजिस्ट बल्कि मेडिकल कॉलेज के छात्र-छात्राओं के भी रक्त संबंधी विकारों के विषय में ज्ञान में बढ़ोतरी हुई है। कार्यक्रम के माध्यम से रक्त विकार सहित आज के समय में किस तरह की डिसीज हो रही हैं और उनका सरल आधुनिक उपचार क्या होगा इसके बारे में दूसरे विद्वानों से जानने का मौका मिला। यह ज्ञान निश्चित तौर पर आगे काफी काम आने वाला है

क्या है अप्रोच टू अ हीमोग्राम

डॉ. सिंह ने बताया कि अप्रोच टू अ हीमोग्राम एक ऐसी विधा जिससे हम ब्लड टेस्ट करने की जो आटोमैटिक मशीन आती है उसकी रिपोर्टिंग को पढ़ पाते हैं। इसमें आटोमैटिक मशीन की रिपोर्ट को कैसे पढ़ना इसके बारे में बताया जाता है।

सिम्स की डीन डॉ. तृप्ति नागरिया ने इस तरह के आयोजन होते रहने की बात कही। उन्होंने कहा कोरोनाकाल में वेबिनार ज्ञान के आदान प्रदान का काफी अच्छा माध्यम है। इससे देश के कोने-कोने से जुड़कर लोग दूसरे विद्वानों के शोध और ज्ञान को जान सकते हैं। सिम्स में इस तरह के वेबिनार आगे भी आयोजित होते रहें, जिससे न सिर्फ यहां के डॉक्टर्स बल्कि स्टूडेंट्स को भी फायदा मिले।

वेबिनार में प्रदेश के चिकित्सकों, चिकित्सा शिक्षकों ,पैथोलॉजिस्ट, निजी सेवा में काम कर रहे पैथोलॉजिस्ट व मेडिकल कॉलेज के छात्र छात्राओं ने भारी संख्या में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इस उपलक्ष्य पर मेडिकल कॉलेज के छात्र-छात्राओं के लिए एक प्रश्नोत्तरी का भी आयोजन किया गया।

वेबिनार को सफल बनाने में ऑर्गनाइजिंग चेयरमैन डॉ. भानुप्रताप सिंह संचालक सह प्राध्यापक, ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ. रश्मि गुप्ता सह प्राध्यापक, जॉइंट ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ. सुपर्णा गांगुली सह प्राध्यापक, कार्यक्रम को-ओर्डिनेटर डॉ. चित्रांगी बारपांडे, डॉ. शहनाज बानो, डॉ. अंकि सलूजा, डॉ. ज्योति पोर्ते, डॉ. नागेंद्र साहू, डॉ. विवेक राठिया, डॉ. प्रशांति पांडे, डॉ. मयंक अग्रवाल ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वेबिनार के तकनीकी विभाग का जिम्मा कृष्णो कंवर, लक्ष्मी घृतलहरे,अजय राठौर, महेंद्र साहू, रंजीत मंडावी,आकाश पटेल, गीता राम रात्रे के काफी अच्छे से निभाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here