घर-घर कोरोना जांच का काम पूरा, 50407 लोगों का किया गया टेस्ट

0

बिलासपुर. कोरोना को लेकर 5 से 12 अक्टूबर तक जिला प्रशासन द्वारा चलाया गया कोविड.19 सघन सर्वे पूरा हो गया है। जिसमें कुल 628 लोग पॉजिटिव पाए गए। इनमें से भी 394 हाई रिश्क केस पाए गए। इसके साथ ही घर घर हुई जांच में 2589 केस कोरोना के लक्षण वाले पाए गए। इन सभी को होम आईसोलेट होने की सलाह देने सहित उन्हें उचित इलाज व सुविधाएं मुहैय्या कराई गईं।

नैशनल रूरल हेल्थ मिशन की जिला कार्यक्रम प्रबंधक यानि डीपीएम लता बंजारे ने बताया कि जिले के हर घर तक पहुंचने के लिए उन्होंने 2647 टीमो का गठन किया था। इसमें मितानिन, आंगनबाड़ी सहित सीएचओ, पंचायत एवं ग्रामीण नगरीय विकास विभाग के कर्मचारी शामिल थे।

इसके द्वारा हर परिवार के सदस्यों की संख्या दर्ज करने के साथ ही उनमें सर्दी, बुखार खांसी, पेचिस, उल्टी आना, चक्कर आना, स्वाद नहीं आना, स्मेल नहीं आना आदि लक्षणों को देखा गया।

जिसमें भी ऐसे सिमटम्स दिखे उनका कोविड.19 टेस्ट किया गया। सर्वे के दौरान जिले के 391392 घरों का भ्रमण किया गया। इसमें 1,25,869 घर शहरी क्षेत्र के शामिल है और शेष बिल्हा, मस्तूरी, तखतपुर और कोटा ब्लॉक के घर शामिल हैं।

इस अभियान के दौरान में 394 हाई रिश्क केस मिले। टेस्ट की बात करें तो घर-घर किए गए इस अभियान के दौरान कुल 22282 एंटीजेन टेस्ट किए गए। इसमें 206 पॉजिटिव केस मिले। इसके अलावा 25095 आरटीपीसीआर टेस्ट में 28 टेस्ट पॉजिटिव मिले हैं।

बिना लक्षण वाले मरीजों को किया गया सतर्क

डीपीएम लता बंजारे ने बतायासघन जांच सर्वे में जितने भी सैंपल लिए गए हैं उनमें से एंटीजन व आरटीपीसीआर दोनो ही टेस्ट लगभग शत प्रतिशत पूरे हो चुके हैं। अभी भी जिलों में काफी केस सामने आ रहे हैं।

ठंड में कोरोना फैलने का खतरा और बढ़ सकता है। ऐसे में सर्वे के दौरान जो लोग स्वस्थ्य यानि जिनको कोरोना के लक्षण नहीं मिले उन्हें भी सावधानी बरतने के लिए कहा गया है।

इतना ही नहीं हर समय मास्क लगाने और सामाजिक दूरी बनाकर रहने की सलाह दी गई है। कोरोना को लेकर लोग भी काफी जागरूक हो रहे हैं। इसके लिए लोगों को एक दूसरे को जागरूक करने की बात भी कही गई है, लता बंजारे ने बतायाद्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here