देवगुरु बृहस्पति अप्रैल माह में करेंगे कुंभ राशि में प्रवेश, सभी राशियों पर पड़ेगा प्रभाव

0

ग्रह-नक्षत्र के परिवर्तन से जीवन में बहुत से बदलाव देखने को मिलते है। ज्योतिषशास्त्र में प्रत्येक ग्रह महत्वपूर्ण माना जाता है। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी ने बताया कि ज्योतिषशास्त्र में देव गुरु बृहस्पति एक महत्वपूर्ण ग्रह है।

इन्हें संतान, ज्ञान, गुरु, धर्म, शिक्षा, विवाह आदि का कारक ग्रह माना जाता है। गुरु की चाल का प्रभाव सभी राशियों पर शुभ-अशुभ रूप में पड़ता है। गुरु का परिवर्तन सभी प्राणियों के कार्य-व्यापार में हानि-लाभ के अतिरिक्त शासन सत्ता और न्यायिक प्रक्रिया को भी प्रभावित करता है।

देव गुरु बृहस्पति 5 अप्रैल की मध्यरात्रि को अपनी नीच राशि मकर से कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। इस राशि पर 13 सितंबर तक रहने के बाद वक्री अवस्था में पुनः मकर राशि में प्रवेश कर जाएंगे। जहां 20 नवंबर 2021 तक रहेंगे। उसके बाद पुनः मार्गी अवस्था में कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे। इससे प्रत्येक राशि के जातकों पर प्रभाव पड़ेगा।

मेेष-संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। विद्यार्थियों को शिक्षा प्रतियोगिता में पूर्ण सफलता प्राप्ति के योग है। नव-विवाहितों के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के येाग बनेंगे। वरिष्ठों के लिए धार्मिक-मांगलिक कार्य का अवसर बनेगा।

वृषभ-नौकरी में पदोन्नति होगी और नए अनुबंध प्राप्ति के योग है। कार्य-व्यापार में लाभ आय के साधन बढ़ेंगे। जमीन-जायदाद से जुड़े मामलों का शीघ्र निपटारा होगा। सामाजिक कार्यों में अधिक व्यय होगा लेकिन आपकी प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी।

मिथुन-धर्म-कर्म के मामलों में गहरी रूचि होगी। सोची समझी सभी रणनीतियां कारगर सिद्ध होगी। भाईयों में असहमति-अविश्वास का माहौल न बनने दे। विदेश यात्रा के योग बनेंगे। बुजुर्गों को पौत्र सुख की प्राप्ति, आय के साधन बढ़ेंगे।

कर्क-स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहे। व्यावसायिक कार्यों में सफलता कुछ हद तक ही सफलता प्राप्त होगी। आकस्मिक धन लाभ के योग है। नौकरी में पदोन्नति के अवसर मिलेंगे। तीर्थाटन एवं सामाजिक कार्यों पर धन खर्च होगा।

सिंह-मांगलिक कार्यों का सुअवसर आएगा। शादी-विवाह संबंधी वार्ता भी सफल रहेगी। नौकरी में मान-सम्मान एवं प्रभाव की वृद्धि होगी। उच्चाधिकारियों से सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य के प्रति सजक रहे। अधिक खर्च से बचना होगा।

कन्या-गुप्त शत्रुओं से बचें, कोर्ट-कचहरी के मामले भी सुलझेंगे। भाग-दौड़ की अधिकता से तनाव बढ़ेगा। शादी-विवाह में बजट से अधिक व्यय होगा। विदेशी कंपनियों में नौकरी अथवा नागरिकता के लिए आवेदन करना सफल रहेगा।

तुला-हर तरह के सफलताओं के अच्छे अवसर मिलेंगे। नए प्रेम प्रसंग की शुरुआत होगी। आय के भी अनेक साधन बनेंगे। परिवार के बड़ों से सहयोग प्राप्त होगा। संतान संबंधी चिंता से मुक्ति मिलेगी। नौकरी में पदोन्नति के योग बनेंगे।

वृश्चिक-कुछ पारिवारिक कलह एवं मानसिक अशांति रहेगी। नौकरी में भी नए अनुबंध की प्राप्ति के योग अवसर जाने न दे। प्रमोशन एवं स्थान परिवर्तन का प्रयास भी सफल रहेगा। पैतृक संपत्ति का लाभ मिलेगा। भौतिक सुख मिलेगा। वाहन खरीदने की संभावना है।

धनु-साहस पराक्रम में वृद्धि होगी। विद्यार्थियों को शिक्षा प्रतियोगिता में अच्छी सफलता मिलेगी। धर्म एवं आध्यात्म के प्रति गहरी रूचि रहेगी। कार्यक्षेत्र में भी प्रभाव बढ़ेगा। संतान संबंधी चिंता दूर होगी। विदेश यात्रा तथा विदेश्ज्ञी कंपनियों में नौकरी के योग बनेंगे।

मकर-आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। किसी महंगी वस्तु को खरीद सकते है। जमीन जायदाद के मामलों का भी निपटारा होगा। आपके द्वारा लिए गए निर्णय सराहनीय होंगे। षडयंत्र का शिकार होने से बचे। स्वास्थ्य पर ध्यान दे। विवादित मामले आपस में हल करे।

कुंभ-अपनी योजनाओं और रणनितियों को गोपनीय रखे। शादी-विवाह एवं व्यापार के क्षेत्र में आ रही रूकावटें दूर होंगी। विद्यार्थियों को शिक्षा-प्रतियोगिता में अच्छी सफलता मिलेगी। संतान संबंधी चिंता से मुक्ति मिलेगी। सामाजिक पद-प्रतिष्ठा बढ़ेगी।

मीन-अत्यधिक भागदौड़ और व्यर्थ व्यय का सामना करना पड़ेगा। बारहवें बृहस्पति का गोचार प्रभाव अशांति एवं उलझने देगा। स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहे। लेन-देन के मामलों में भी सावधान रहे। कोर्ट-कचहरी के मामले भी बाहर ही सुलझाएं तो बेहतर रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here