पुरुषोत्तम मास के दसवें दिन श्रीविष्णु सहस्त्रनाम का पाठ किया गौ सेवको ने

0

बिलासपुर.बिलासपुर गौ धाम में पुरुषोत्तम मास के अवसर पर गौ कथा, भागवत कथा के अलावा हर दिन अलग-अलग अनुष्ठान किए जा रहे है। जिसमें दसवें दिन भगवत समाराधना पूजा व श्रीविष्णु सहस्त्रनाम का पाठ गौ सेवकों के द्वारा किया गया।

गौ सेवक व गौ कथावाचक गोपाल कृष्ण ने बताया कि पुरुषोत्तम मास पद्मिनी एकादशी के पावन पर्व पर गौसेवको के द्वारा किया गौ माता की रक्षा एवं विश्व कल्याण के लिए किया गया।

दिव्य अनुष्ठान भगवान शालिग्राम का महा विषयक दूध, दही,घी, शहद, शक्कर से किया गया। भगवान के 1000 नामों से तुलसी अर्चना पुष्प अर्चना के साथ महा आरती की गई।

यह पुरुषोत्तम मास 3 वर्ष में एक बार आता है भगवान कृष्ण अर्जुन को गीता का उपदेश देते हुए कहते हैं कि मैं मासों में श्रेष्ठ पुरुषोत्तम मास हूं जो मनुष्य इस अधिक मास में मेरे निमित्त गौसेवा करता है ब्राह्मणों का सत्कार करता है और जनकल्याण विश्व शांति का कार्य करता है

वह भी मेरा प्रिय है गृहस्थ आश्रम को श्रेष्ठ बताते हुए भगवान ने कहा है वैदिक शास्त्र वेद पुराण के द्वारा जो मेरे निमित्त पूजन अर्चन इत्यादि के अनुष्ठान करते है वह मेरे अति प्रिय वैष्णव जन के तुल्य हैं मैंने अपने भक्तों के कल्याण के लिए मलमास को अपना स्वयं का नाम प्रदान किया

भगवान पुरुषोत्तम की महिमा वेद पुराण और शास्त्रों में वर्णित कथाओं को जो इन महीनों में श्रवण करता है पठन करता है अध्ययन करता है और जनमानस में भगवान नाम का प्रचार-प्रसार करता है वह भगवान के परम कृपा को प्राप्त करता है।

इस अवसर पर गो कथा वाचक गोपाल कृष्ण रामानुज दास शत्रुघन कृष्णदास बनारस से पधारे शास्त्री अभिषेक शर्मा, गौसेवक विपुल शर्मा, मुकेश कश्यप आदि गौसेवक उपस्थित होकर भगवान की इस दिव्य महोत्सव में शामिल हुए ।

पूजन किया कोरोना महामारी के कारण इस अनुष्ठान मे जो भक्त शमलित नही हो पाए । उनके लिए फेसबुक के माध्यम से घर बैठे ही लाइव दर्शक कर रहे है रहा अनुष्ठान ब्रह्म मुहूर्त मैं प्रातरू काल 5 बजे प्ररंभ किया जा रहा है। पुरुषोत्तम मास मे भगवान कि इस पूजन के दर्शन करने मात्र से जन मानस का कल्याण हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here