कोरोना का नया स्ट्रेन है और भी खतरनाक, जाने लक्षण

कोरोना का नया स्ट्रेन बहुत ही खतरनाक माना जा रहा है। यह 2 से 3 दिन में ही व्यक्ति को कोविड निमोनिया से संक्रमित कर देता है। जिससे जल्द से जल्द ही व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है। वहीं सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। कोरोना के मरीजों में अब कोविड निमोनिया पाया जा रहा है। इस लेख में विशेषज्ञों द्वारा नए स्ट्रेन के लक्षण बताए गए है।

कोविड निमोनिया व निमोनिया में अंतर

कोविड निमोनिया और आम निमोनिया एक जैसे ही होते है। लेकिन जिन लोगों को कोविड निमोनिया होता है उनके दोनों फेफड़ों में इंफेक्शन होता है। वहीं आम निमोनिया वाले मरीजों में ज्यादा इंफेक्शन एक फेफड़े में होता है। कोविड निमोनिया की पहचान डाॅक्टर सीटी स्केन और एक्स-रे के जरिए कर लेते है।

नए स्ट्रेन में यह है लक्षण

कोविड निमोनिया के लक्षण भी आम निमोनिया जैसे ही होते है। इसमें बुखार आना, ठंड लगना या फिर गले में खराश होती है। सांस लेने में तकलीफ होती है। सीने में दर्द होता है और साथ ही शरीर को थकान भी लगती है।

वहीं इसका गंभीर लक्षण सांस लेने में तकलीफ हो सकता है। वहीं चेहरे का रंग बदलने लगे या हार्टबीट में बदलाव होने लगे तो तुरंत डाॅक्टर के पास जाना चाहिए।

इन लोगों है ज्यादा खतरा

कोविड निमोनिया उनको होने का ज्यादा खतरा है जिनकी उम्र ज्यादा है या फिर वो 65 से ज्यादा उम्र के है। मेडिकल स्टाॅफ को होने की आशंका ज्यादा होती ह। जो लोग फेफड़ों की बीमारी से पीड़ित है। अस्थमा या हार्ट की बीमारी से पीड़ित मरीजों को, लिवर या डायबिटीज के मरीजों को, कैंसर मरीज या एचआईवी से पीड़ित मरीज और मोटापे या कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों को निमोनिया कोविड होने का सबसे ज्यादा खतरा होता हैं।

घबराए नहीं इससे बचा भी जा सकता है ऐसे

-हाथ धोते रहने चाहिए।

-दूरी बनाकर रखनी चाहिए और सफाई रखनी चाहिए।

-खुद की इम्यूनिटी मजबूत रखे।-हेल्दी खना खाएं और नींद पूरी ले।

-अगर आपको कोई गंभीर बीमारी है तो आपको तुरंत डाॅक्टर से संपर्क करना चाहिए।

-सेनेटाइजर का इस्तेमाल करे।

-अधिक लोगों के संपर्क में जाने से बचे।

-सामान्य तौर पर भी घर पर भांप लेते रहे।

-इसके अलावा मेडिटेशन व योग-प्रणायाम के माध्यम से भी अपने अंदर पाॅजिटीव एनर्जी लाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here