चाणक्य नीति कहती है ऐसे लोगों से दोस्ती कभी ना करे, जाने यहां

0

खुशहाल जिंदगी के लिए आचार्य चाणक्य ने कई नीतियां बताई है। चाणक्य की नीतियां मनुष्य के जीवन को अपने लक्ष्य तक व सुखी जीवन जीने का राह दिखाती हैं। अगर आपको भी अपनी जिंदगी में सुख और शांति चाहिए तो चाणक्य ने जो बताया है उसे अवश्य ही अपनाए।

चाणक्य के विचार कठोर जरूर होते है लेकिन हमेशा ही सही राह दिखाते है। ये कठोरता ही जीवन की सच्चाई है। लोग भागदौड़ भरी जिंदगी में इन विचारों को भले ही नजर अंदाज कर दे। लेकिन ये वचन जीवन की हर कसौटी पर मदद करेगी। चाणक्य के ऐसे विचारों में से एक विचार है कि हमें कैसे लोगों से दोस्ती नहीं करना चाहिए। इस लेख से हम उसी को बता रहे है।

इस तरह के दोस्त होते है जीवन के लिए खतरनाक

बुरे चरित्र वाले, अकारण दूसरे को हानि पहुंचान वाले और गंदे स्थान पर हरने वाले व्यक्ति के साथ जो मनुष्य मित्रता करता है वो जल्दी नष्ट हो जाता है।

आचार्य चाणक्य के कथन का अर्थ है कि तीन तरह के लोगों से कभी भी किसी को मित्रता नहीं करनी चाहिए। ये तीन लोग बुरे चरित्र वाले, अकारण दूसरे को नुकसान पहुंचाने वाले और गंदे स्थान पर रहने वाले। इस तरह के लोगों से दोस्ती करने वाले व्यक्ति को अपने फैसले पर हमेशा ही पछताना पड़ता है।

-ऐसा इसलिए क्योंकि बुरे चरित्र वाले व्यक्ति की जिससे भी मित्रता होगी तो वो उसे अपनी तरह बनाने की कोशिश करेगा। ऐसे में आप भले ही कितनी भी कोशिश क्यों ना कर ले।

उस व्यक्ति के प्रभाव से खुद को बचा नहीं पाएंगे। अगर एक बार भी आप ऐसे चरित्र वाले व्यक्ति से प्रभावित हो गए तो आप भी उन्हीं की तरह उन चीजों को करने लगेंगे जो आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है।

-दूसरी तरफ अगर आप किसी भी व्यक्ति को बिना किसी वजह के हानि पहुंचाने की सोच रहे है तो ऐसा बिल्कुल ना करे। ऐसा इसलिए क्योंकि बिना किसी वजह के दूसरे को कष्ट देना अच्छी बात नहीं है।

ऐसा करके आप खुद को पाप का भोगी बना रहे है। इसलिए अगर आपका कोई भी दोस्त इस तरह की प्रवृत्ति वाला है तो उससे दूर रहने में ही आपकी भलाई है।

-इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति गंदे स्थान पर रहता हो तो उससे भी बिल्कुल दोस्ती ना करे। ऐसा इसलिए क्योंकि व्यक्ति जिस स्थान पर रहता है उसकी सोच भी उसी तरह की हो जाती है। यानि कि व्यक्ति की सोच पर उसके आसपास के माहौल का बहुत प्रभाव पड़ता है।

इसी वजह से आचार्य चाणक्य ने कहा है कि बुरे चरित्र वाले, अकारण दूसरे को हानि पहुंचाने वाले और गंदे स्थान पर रहने वाले व्यक्ति के साथ जो पुरुष मित्रता करता है वो जल्दी नष्ट हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here