भारतीय मजदूर संघ छत्तीसगढ़ का अधिवेशन संपन्न

0

दिनांक 13 और 14मार्च को रायपुर के महाराष्ट्र मंडल सामुदायिक भवन में संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय मजदूर संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री माननीय बी सुरेंद्रन जी ने पूरे समय अधिवेशन का सतत अवलोकन और मार्गदर्शन किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि भारतीय मजदूर संघ सिर्फ मजदूरों की समस्याओं के लिए ही आवाज उठाने वाला संगठन नहीं है वरन् एक राष्ट्रवादी विचारधारा को लेकर देश को परम वैभव के शिखर पर ले जाने के लिए सरकार, उद्योग और श्रमिकों के बीच परस्पर सहयोग के आधार पर सामंजस्य स्थापित करने के लिए कार्य करने वाला एक गैर राजनीतिक संगठन है।

जो कि समाज के सभी क्षेत्रों में अपना विस्तार करते हुए अपने इसी स्वरुप में आज देश का सबसे बड़ा मजदूर संगठन बना हुआ है और संगठन में लगातार स्वाभिविक रुप से नेत्रित्व परिवर्तन होते रहा है। कोरोना वैश्विक आपदा के समय हमारे लाखों कार्यकर्ताओं ने प्रवासी मजदूरों की जिस प्रकार से सहायता की है वह एक उदाहरण है। हमारे कार्यकर्त्ताओं की वजह से कहीं भी कोई प्रवासी मजदूर भूखा नहीं रहा।

इसी तरह से हम सामाजिक समरसता, प्रर्यावरण सुरक्षा जैसे विषयों पर भी सजगता और जागरूकता लाने का कार्य करते हैं। अधिवेशन के मुख्य वक्ता भारतीय मजदूर संघ के राष्ट्रीय मंत्री माननीय गिरीश आर्य जी ने संगठन की स्थापना के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हम वर्ग संघर्ष के सिद्धांत को नहीं मानते हैं बल्कि पूंजीपति और मजदूर, दोनों के हित को सहेजकर राष्ट्र के संवर्द्धन के लिए राष्ट्रवादी चिंतन के साथ भारतीय मजदूर संघ की स्थापना की गई।

हमारा संगठन सिर्फ विरोध के कारण विरोध नहीं करता बल्कि मुद्दे के आधार पर निर्णय करता है। ठेका श्रमिक संघ के राष्ट्रीय प्रभारी माननीय विरेन्द्र कुमार ने ठेका श्रमिकों की स्थिति पर संगठन को अधिक कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया इसी प्रकार से श्रम कल्याण मंडल छत्तीसगढ़ के पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ श्रमिक नेता माननीय योगेशचंद्र शर्मा जी ने प्रस्तावित लेबर कोड के संबंध में विस्तृत जानकारी से सदस्यों को अवगत कराया।

इस दो दिवसीय अधिवेशन में संगठन के विगत तीन वर्षों के कार्यकाल की समीक्षा के साथ आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा तय की गई। तथा देश और प्रदेश की स्थिति, उद्योग और श्रमिक समस्याओं से संबंधित सार्वजनिक क्षेत्र, निजी क्षेत्र, महिला श्रमिकों की समस्याओं आदि के संबंध में विभिन्न इकाइयों द्वारा 13 महत्वपूर्ण प्रस्ताव व्यापक विचार विमर्श उपरांत पारित किया गया जिसके अनुसार संगठन आगे कार्यवाही करेगा।

अंतिम सत्र में पुराने कार्यसमिति को अध्यक्ष महोदय द्वारा भंग किया गया और नवीन कार्यकारिणी का सर्वसम्मति और सौहार्द्र के साथ गठन किया गया। जिसमें शिव कश्यप जी को पुनः प्रदेश अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया और निवर्तमान महामंत्री राधेश्याम जायसवाल के स्थान पर नरोत्तम घृतलहरे जी को प्रदेश महामंत्री का दायित्व दिया गया है।

इसी के साथ विस्तारित कार्यकारिणी की घोषणा की गई है। बिलासपुर जिला से अध्यक्ष श्री शिव कश्यप एनटीपीसी ,सीपत के साथ शंखध्वनि सिंह बनाफर एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर को प्रदेश उपाध्यक्ष के साथ प्रदेश संयोजक प्रर्यावरण मंच का दायित्व दिया गया है। उपरोक्त कार्यक्रम में बिलासपुर जिला से बीस प्रतिनिधि सहित प्रदेश से लगभग दो सौ प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

कार्यक्रम की संपूर्ण रुपरेखा तैयार करने में क्षेत्रीय संगठन मंत्री माननीय धर्मदास शुक्ला जी का विशेष मार्गदर्शन रहा। कार्यक्रम का संचालन निवर्तमान महामंत्री माननीय राधेश्याम जायसवाल जी ने किया। कार्यक्रम संपन्न कराने में जिला रायपुर के कार्यकर्ताओं ने सराहनीय कार्य किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here