पंच महायोग में मनाई जाएगी बसंत पंचमी, मां सरस्वती की पूजा करने पर मिलेगा आशीर्वाद

1

बसंत ऋतु की आहट है बसंत पचंमी। जब फूलों में बहार, खेतों में सरसो के सुनहरी हरियाली और गेंहू की बालियां खिलने लगती है तो बसंत उत्सव की बहार आ जाती है। बसंत उत्सव 16 फरवरी को है।

इस बार पंच महायोग लेकर बसंत पंचमी मनाई जाएगी। यह तिथि मां सरस्वती की पूजा के लिए विशेष मानी गई है। साथ ही इस दिन विद्यारंभ संस्कार की विधि से बच्चे को मां सरस्वती की कृपा मिलेगी। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी ने बताया कि इस पंच महायोग में जो भी मां सरस्वती की पूजा व ध्यान करेगा उसको मां सरस्वती की कृपा मिलेगी।

साल में 6 ऋतुएं आती है। जिनमें बसंत ऋतु को सबसे महत्वपूर्ण व सुहानी माना जाता है। सरसों में सुनहरे पुष्प और आम में बौर आने लगती है। पेड़ों के पत्ते झड़कर नए कपोले ऋतुराज का स्वागत करते है। इस बार बसंत पंचमी में ऐसा योग बन रहा है जब बसंत पंचमी के दिन पंच महायोग का शुभ मुहूर्त में मां सरस्वती की पूजा होगी।

पंच महायोग क्या है जाने

ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी के मुताबिक माघ मास की पंचमी तिथि पर पंच महायोग में ध्वज योग, साध्य योग, सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत योग और रवि योग एक साथ है। ऐसा संयोग दुर्लभ होता है।

इसी मुहूर्त में विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा होगी। जो बच्चे पहली बार विद्यालयों में कदम रखने वाले है उनका विद्यारंभ संस्कार कराया जाएगा। मंत्रोंच्चारण के बीच अक्षर लिखने का अभ्यास कराया जाता है। विधानपूर्वक की गई विधि से बच्चों में ज्ञान की वृद्धि होती है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here