आचार्य विद्यासागर के 75 वे अवतरण दिवस के अवसर पर तीन दिवसीय ऑनलाइन धार्मिक आयोजन हुआ

0

बिलासपुर. संत शिरोमणि 108 आचार्य विद्यासागर जी महाराज का 75वां अवतरण दिवस के अवसर पर जैन सभा द्वारा तीन दिवसीय ऑनलाइन कार्यक्रम संपन्न ।

कार्यक्रम केवल बिलासपुर जैन समाज के श्रावकों के अलावा समूचे भारत वर्ष और भारत से बाहर भी रहने वाले समस्त श्रावक जो आचार्यश्री के प्रति श्रद्धा रखते हुवें ।

इस प्रतियोगिता में शामिल हुए आयोजन समिति द्वारा कार्यक्रम की श्रृंखला के पहले दिन जैन भजन प्रतियोगिता एक शाम गुरुदेव के नाम का आयोजन किया गया। प्रथम दिन के कार्यक्रम का शुभारंभ सवई सिंघई विनोद जैन एवं परिवार बिलासपुर द्वारा दीप प्रज्वलन से किया गया।

इसके पश्चात आयोजन समिति द्वारा मंगलाचरण की प्रस्तुति दी गयी। यह भजन प्रतियोगिता दो वर्गों में आयोजित की गई। 8 से 15 वर्ष तक के बच्चों का प्रथम वर्ग और 15 वर्ष से ऊपर के श्रावकों का दूसरा वर्ग।

प्रथम वर्ग में कुल 15 बच्चों ने और द्वितीय वर्ग में 38 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इस प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ से बिलासपुर, अकलतरा, बलौदा, कोरबा, राजिम, दुर्ग, राजनांदगांव, भिलाई के अलावा कोतमा, जबलपुर, सागर, बैंगलोर, हैदराबाद, मुम्बई,

भोपाल और दुबई से आचार्य भक्तों ने इस प्रतियोगिता में अपने भजन भेजे। यह प्रतियोगिता दो चरणों में आयोजित की गई। प्रथम चरण में सभी प्रतिभागियों ने अपने भजन का ऑडियो बनाकर आयोजन समिति को भेजा।

बीना और सागर के प्रसिद्ध गायक और संगीत शिक्षक सिद्दार्थ जैन एवं सौरभ जैन निर्णायक की भूमिका में थे। निर्णायकों ने प्रथम वर्ग से सात और द्वितीय वर्ग से 13 गायकों का चयन अगले चरण के लिए किया।

अगले चरण में इन सभी चयनित प्रतिभागियों ने अपने भजन की संगीतमय प्रस्तुति ऑनलाइन माध्यम से दी। पूरे कार्यक्रम का सीधा प्रसारण देश.विदेश से सैकड़ों परिवारों ने ऑनलाइन देखा।

सभी गायकों ने एक से बढ़ कर एक भजन आचार्य श्री को समर्पित किये। निर्णायकों ने निर्णय लेने के लिए स्वर, लय.ताल, गीत रचना और प्रस्तुतिकरण को मानक बनाया।

15 वर्ष तक के बच्चों के वर्ग में प्रथम स्थान राजिम के हार्दिक गंगवाल, द्वितीय बिलासपुर के संयम जैन और तृतीय बिलासपुर की सरस जैन ने प्राप्त किया। 15 वर्ष से अधिक उम्र के वर्ग में प्रथम पुरस्कार बैंगलोर की संस्कृति जैन, द्वितीय राजनांदगांव की

पल्लवी जैन औऱ तृतीय पुरस्कार दुबई के जितेन्द्र जैन और हैदराबाद की ऋचा जैन को मिला। इसके साथ ही प्रतिभागियों के गाये भजन की लिंक को 6 घण्टे के लिए सोशल मीडिया पर प्रसारित किया गया था।

सोशल मीडिया पर मिले लाइक्स के आधार पर विशेष पुरस्कार दुर्ग की रुचि जैन और बिलासपुर के मनन सिंघई को मिला। इस कार्यक्रम के प्रायोजक और पुण्यार्जक रहे

कोयला परिवार बिलासपुर से सवई सिघई विनोद रंजना जैन, डॉ विशाल रेशू जैन, डॉ वर्षा अभिषेक जैन, विकास, विवान, रेयाना, अबीर, अबीरा जैन थे।

इस कार्यक्रम को मूर्त रूप देने और सफल बनाने में अनुभूति जैन, वर्षा जैन, अमित जैन, सुप्रीत जैन, दीपक जैन, संदीप जैन एवं अमन जैन का योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here