महाशिवरात्रि पर धूमधाम के साथ निकाली 7 जोड़ो की बारात

0

श्री झूलेलाल मंदिर झूलेलाल नगर चकरभाटा में महाशिवरात्रि एवं बाबा गुरमुखदास के पावन जन्मदिन के अवसर पर 7 जोड़ों की निकली बारात सुबह 11 बजे झूलेलाल मंदिर से बैंड बाजे, ढोल ताशे के साथ नाचते गाते हुए बारात निकाली गई। नगर भ्रमण करते हुए 2 बजे वापस झूले मंदिर पहुंची। बारात का स्वागत आतिशबाजी फूलों की वर्षा से एवं बारातियों का स्वागत सल्पाहार से किया गया।

पूरे रास्ते भर में नाचते-गाते हुए बराती चल रहे थे। कार्यक्रम 8. 30 बजे राम सत 9 बजे नाश्ता, 9.30 बजे मुकुट बंधन, 11 बजे बारात निकाली गई। 2 बजे समधी मिलन का कार्यक्रम 2 बजकर 30 बजे लेडीस संगीत का कार्यक्रम हुआ। जिसमें रायपुर के मशहूर गायक सनी परवानी व मुकेश बुरहानपुर से सिंधी गानों से समा बांध दिया।

जिसे सुनकर आए हुवे सभी लोग झूम उठे जी ये मूहनजी सिंध, हो जमालो, आज मेरे भाई की शादी है…, बाबा गुरमुखदास आप हमारे दिल में रहते हैं सोन जो रुपया…, लाल झूले लाल झूले लाल रख संदुली ते पर, मुंजा मोर ला दा…ऐसे कई सिंधी गीत गाए। इसे सुनकर सभी का दिल जीत लिया।

दोपहर 3 बजे प्रीतिभोज बड़ी संख्या में लोगों ने प्रसाद के रूप में ग्रहण किया एवं मन-तन को तृप्त किया। शाम 4 बजे बाबा गुरमुख दास साहेब जी का 75 वां जन्म उत्सव मनाया गया। संतलाल साईं भाभी मां पूज्य माता साहेब शोभ राज भैया के द्वारा के काटा गया एवं भोग लगाकर भक्तों में बाटा गया।

इस अवसर पर पूज्य सिंधी पंचायत चकरभाठा के अध्यक्ष प्रकाश जैसवानी, भारतीय सिंधु सभा बिलासपुर का इकाई की अध्यक्ष कंचन मलघानी, सेंट्रल महिला विंग बिलासपुर की अध्यक्ष सुनीता खत्री, रायपुर के नरेश भाई, सिंधु कल्चर एलाइंस फोरम के बिलासपुर के अध्यक्ष हेमंत कलवानी, संरक्षक नानकराम पंजवानी, रमेश कलवानी, जगदीश जगियासी, अशोक हिंदूजा एवं सभी सदस्यों का व पत्रकार विजय दुसेजा का संतलाल साईं जी के द्वारा शॉल पहनाकर सम्मान किया गया।

शाम 5 बजे शुभ विवाह के रीति-रिवाज आरंभ हो गए। शाम 7 बजे सात फेरों के साथ 7 जोड़ों का शुभ विवाह संतलाल साईं जी के आशीर्वाद से संपन्न हुआ। सभी जोड़ों ने साइ जी से आशीर्वाद लिया। साईं जी ने सभी जोड़ों को आशीर्वाद दिया एवं कहा आज से आपका नया जीवन शुरू हो रहा है।

आज आप पति-पत्नी के रूप में बेटे और बहू के रूप में एक नया ग्रस्त जीवन आरंभ कर रहे। इस शुभ दिन व भगवान झूलेलाल के मंदिर से इस शुभ कार्य संपन्न हुआ है। भगवान आपका जीवन सुख में बनाएं वह हमेशा अपने इष्ट देव अपने माता-पिता का आशीर्वाद लेना जीवन में कभी भी कठिनाई आए तो घबराना नहीं सुख-दुख जीवन के दो पहिए हैं। जो आते जाते रहते हैं पति-पत्नी को इन दोनों को साथ में समझना है वह जीवन भर साथ चलना है।

मंदिर की तरफ से वर-वधु को मंगलसूत्र सहित 41 उपहार दिए गए। सामाजिक संस्थाएं ने भी उपहार दिए। जिनमें प्रमुख बिलासपुर की हाईटेक आर्दश पूज्य सिंधी पंचायत जूना बिलासपुर, भारतीय सिंधु सभा महिला इकाई बिलासपुर, सेंट्रल महिला बिलासपुर, बाबा गुरमुखदास सेवा समिति रायपुर, भाटापारा, भिलाई, दुर्ग, नागपुर, गोंदिया, राजनंदगांव, रायगढ़, कोरबा, चकरभाटा सदस्यों ने भी उपहार दिए एवं अपनी सेवा दी।

इस पूरे विवाह को पंडित पूरण शमा॔ ने विधि-विधान से सम्पन कराया। इस पूरे आयोजन को सफल बनाने में बाबा गुरमुखदास सेवा समिति चकरभाटा, पूज्य सिंधी पंचायत चकरभाठा झूलेलाल, महिला सखी सेवा ग्रुप चकरभाटा झूलेलाल सिंधु यूथ चकरभाटा, राधा स्वामी डेरा समिति चकरभाटा संत निरंकारी मंडल सेवा समिति चकरभाटा के सभी सदस्यों का विशेष सहयोग रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here