राज्य मानसिक कोविड हॉस्पिटल में 42 का हुआ उपचार, सभी स्वस्थ होकर डिस्चार्ज

0

बिलासपुर.राज्य के मनोरोगियों के कोरोना संक्रमित होने और उनके उपचार के लिए शासन द्वारा राज्य मानसिक चिकित्सालय सेंदरी में 15 बेड का विशेष कोविड हॉस्पिटल तैयार किया गया है।

सबसे खुशी की बात यह है कि यहां अब तक 42 कोरोना संक्रमित हुए मनोरोगियों को भर्ती किया गया। यहां की मेडिकल टीम के इलाज और बेहतर काउंसलिंग के कारण सभी 42 कोरना संक्रमित मनोरोगी स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं।

राज्य मानसिक चिकित्सालय सेंदरी के चिकित्साधीक्षक डॉक्टर बीआर नंदा की देखरेख में उनकी टीम ऐसे कोरोना संक्रमितों को एक रणनीति के तहत इलाज दे रही है।

चिकित्सा मनोवैज्ञानिक दिनेश कुमार लहरी ने बताया कि उनकी टीम मनोरोग चिकित्सक डॉ. मल्लिकार्जुन राव के साथ मिलकर यहां भर्ती कोरोना संक्रमितों की काउंसलिंग का कार्य देख रही है

तो वहीं मेडिकल ऑफीसर की निगरानी में एक टीम उनके इलाज की जिम्मेदारी संभाल रही है। इतना नहीं चिकित्साधीक्षक डॉ. नंदा भी राउंड के दौरान सभी मरीजों का अपडेट लेते थे।

इसकी बदौलत अस्पताल की सबसे बड़ी उपलब्धि यह रही कि सभी मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं।

होमआईसोलेशन में विशेष निगरानी डॉ. लहरी ने बताया, सेंदरी स्थित कोविड हॉस्पिटल में राज्य भर से कोरोना संक्रमित हुए मनोरोगियों को इलाज के लिए भेजा जाता था।

वर्तमान में होम आईसोलेशन की सुविधा होने के बाद से सभी मरीजों का इलाज घर में ही किया जा रहा है।

इसके लिए मेडिकल ऑफीसर की टीम अपने-अपने क्षेत्र के अनुसार घर जाकर कोरोना संक्रमितों का इलाज़ कर रही है तो वहीं राज्य मानसिक चिकित्सालय की टीम उनकी ऑनलाइन काउंसलिंग कर रही है।

इसका अच्छा प्रतिफल यह मिल रहा है कि ऐसे मरीज कोविड के संक्रमण से मुक्त होने के साथ ही मानसिक बीमारी से भी आसानी से बाहर आ पा रहे हैं।

राज्य कोविड हॉस्पिटल के चिकित्साधीक्षक डॉ. बीआर नंदा का कहना है कि उनके यहां अब तक 42 कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हुए हैं। सभी स्वस्थ होकर डिस्चार्ज के बाद अपने-अपने घर वापस जा चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here