घर-घर जाकर छूटे हुए 12,305 बच्चों को पिलाई गई पोलियो की दवा, एक दिन और चलेगा अभियान

0

बिलासपुर .राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के दूसरे दिन सोमवार को जिले में स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने घर.घर जाकर छूटे हुए बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाएद्य 31 जनवरी को इस अभियान की शुरूआत बिलासपुर कमिश्नर डॉ. एसके अलंग ने की थी।

पहले दिन जिले में बनाए 1490 बूथों में 2.54 लाख से अधिक बच्चों को दवा पिलाई गई थी। सोमवार को 1490 लोगों की टीम ने अलग-अलग शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में जाकर 251942 घरों का भ्रमण किया। इसमें शहरी क्षेत्र के 1504 बच्चों सहित कुल 12305 बच्चों को घर-घर जाकर पोलियो की दवा पिलाई गई।

अब मंगलवार 2 फरवरी को भी यही टीमें बच्चे हुए घरों में जाकर बचे हुए बच्चों को दवा पिलाकर 2.71 लाख बच्चों के लक्ष्य को पूरा करेंगी। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर मनोज सैमुअल ने बताया कि बिलासपुर शहरी क्षेत्र में तीनों दिन सिम्स जिला अस्पतालए अपोलो हॉस्पिटल और किम्स हॉस्पिटल में बूथ संचालित किए जा रहे हैं।

इन चारों बूथों में 320 बच्चों को दवा पिलाई गई है। इसके साथ ही बनाई गई 86 ट्रांजिट टीमों के साथ अन्य टीमें घर-घर जाकर 0 से 5 साल तक के बच्चों वाले घर में दवा पिलाने का काम कर रही है। जिन घरों में बच्चों को दवा पिलाई गई है वहां पी का निशाल लिखकर पिलाए गए डेट को अंकित किया जा रहा है।

इसके साथ ही जिन घरों में 0-5 साल तक के बच्चे हैं लेकिन वह किसी कारण से दवा नहीं पी पाए हैं तो उन घरों में एक्स का निशान लगाकर डेट डाली जा रही है। इससे इन चिन्हांकित घरों में स्वास्थ्य की एक टीम निर्धारित समय पर पहुंचेगी और बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने का काम करेगी।

डॉ सैमुअल ने बताया 31 जनवरी से 2 फरवरी तक चलाए जा रहे इस अभियान में 2.71 लाख से अधिक बच्चों को पल्स पोलियो की खुराक पिलाने की जिम्मेदारी राज्य से दी गई है। इसे पिछली बार की तरह ही इस बार भी पूरा किया जाएगा।

इस बार पोलियो की दवा शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को दो बूंद हर बार पोलियो पर जीत रहे बरकरार मंत्र के साथ पिलाई जा रही है। अभियान के पहले दिन31 जनवरी को बूथ में एवं 1 तथा 2 फरवरी को घर-घर जाकर छूटे हुए बच्चो को पोलियो की खुराक दी जाएगीए ताकि कोई भी बच्चा पोलियो की खुराक पीने से वंचित न रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here