रामभक्त हनुमान के 108 नाम, जिनके जाप से होता है कष्टों का निवारण

1

राम भक्त हनुमान का जन्मोत्सव श्रीराम नवमीं के बाद मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 27 अप्रैल को मनाया जाएगा। हनुमानजी की पूजा करने से श्रीराम के साथ ही ब्रम्हा, विष्णु, महेश भी प्रसन्न होते है। खास तौर पर शनि देव की कृपा भी मिलती है। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद मनोज तिवारी ने इस लेख में हनुमान जी के 108 नाम के विषय में बताया है। साथ ही बताया है कि नामों का जाप हनुमान जयंती के दिन करने पर सभी कष्टों का निवारण होता है।

हनुमान जी के 108 नाम

1.भीमसेन सहायकृते

2.कपीश्वराय

3.महाकायाय

4.कपिसेनानायक

5.कुमार ब्रम्हचारिणे

6.महाबलपराक्रमी

7.रामदूताय

8.वानराय

9.केसरी सुताय

10.शोक निवारणाय

11.अंजनागर्भसंभूताय

12.विभीषणप्रियाय

13.वज्रकायाय

14.रामभक्ताय

15.लंकापुरीविदाहक

16.सुग्रीव सचिवाय

17.पिंगलाक्षाय

18.हरिमर्कटमर्कटाय

19.रामकथालोलाय

20.सीतान्वेणकत्र्ता

21.वज्रनखाय

22.रुद्रवीर्य

23.वायु पुत्र

24.रामभक्त

25.वानरेश्वर

26.ब्रम्हचारी

27.आंजनेय

28.महावीर

29.हनुमत

30.मारुतात्मज

31.तत्वज्ञानप्रदाता

32.सीता मुद्राप्रदाता

33.अशोकवहिकक्षेत्रे

34.सर्वमायाविभंजन

35.सर्व बंधविमोत्र

36.रक्षाविध्वंसकारी

37.परविद्यापरिहारी

38.परमशौर्यविनाशय

39.परमंत्र निराकत्र्रे

40.परयंत्र प्रभेदकाय

41.सर्वग्रह निवासिने

42.सर्वदुःखहराय

43.सर्वलोकचारिणे

44.मनोजवय

45.पारिजातमूलस्थाय

46.सर्वमूत्ररुपवते

47.सर्वतंत्ररुपिणे

48.सर्वयंत्रात्मकाय

49.सर्वरोगहराय

50.प्रभवे

51.सर्वविद्यासम्पत

52.भविष्य चतुरानन

53.रत्नकुण्डल

54. चंचलद्वाल

55.गंधर्वविद्यात्वज्ञ

56.कारागृहविमोक्त्री

57.सर्वबंधमोचकाय

58.सागरोत्तारकाय

59.प्रज्ञाय

60.प्रतापवते

61.बालार्कसदृशनाय

62. दशग्रीवकुलांतक

63.लक्ष्मण प्राणदाता

64.महाद्युतये

65.चिरंजीवने

66.दैत्यविघातक

67.अक्षहंत्रे

68.कालनाभाय

69.कांचनाभाय

70.पंचवक्त्राय

71.महातपसी

72. लंकिनीभंजन

73.श्रीमते

74.सिंहिकाप्राणहर्ता

75.लोकपूज्याय

76.धीराय

77.शूराय

78.दैत्यकुलांतक

79.सुरारर्चित

80. महातेजस

81.रामचूड़ामणिप्रदाय

82.कामरुपिणे

83.मैनाकपूजिताय

84.मार्तण्उडमण्डलाय

85.विनितेन्द्रिय

86.रामसुग्रीव संधात्रे

87.महारावण मर्दनाय

88.स्फटिकाभाय

89.वागधीक्षाय

90.नवव्याकृतपंडित

91.चतुर्बाहवे

92.दीनबंधवे

93.महात्मने

94.भक्तवत्सलाय

95.अपराजित

96.शुचये

97.वाग्मिने

98.दृढ़व्रताय

99.कालनेमि प्रमथनाय

100.दान्ताय

101.शांताय

102.प्रसनात्मने

103.शतकण्ठमदापहते

104.योगिने

105.अनघ

106.अकाय

107.तत्वगम्य

108.लंकारि

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here