सोमवार से शुरू और सोमवार को ही खत्म होगा सावन का महीना, जाने कैसे

4

सावन का महीना महादेव को समर्पित होता है। महादेव की पूजा की दृष्टि से यह महीना सबसे उत्तम माना गया है। हिन्दू धर्म में सावन का महीना बहुत पवित्र माना गया है। इस बार का सावन महीना कई दृष्टि से महत्वपूर्ण होगा। इस माह की शुरुआत ही सोमवार से हो रही है। इतना ही नहीं इस महीने का अंतिम दिन भी सोमवार है। एेसे में शिव भक्तों के लिए यह महीना विशेष पुण्यकारी होगा।


इस बार सावन के महीने की शुरुआत 6 जुलाई से हो रही है। इसका समापन 3 अगस्त को होगा। सावन का पहला दिन भी सोमवार होगा और सावन माह का अंतिम दिन भी सोमवार ही होगा। बहुत कम ही बार इस तरह का संयोग बनता है।


० भगवान शंकर का पसंदीदा महीना
सावन का माह भगवान शंकर का पसंदीदा महीना है। वहीं सोमवार का दिन भी भगवान को ही समर्पित किया गया है। इस दिन महादेव की पूजा का खास महत्व होता है। शिव पुराण में इसका उल्लेख है कि जो भी भक्त सावन महीने में सोमवार के दिन व्रत रखता है। भगवान शंकर उसकी सारी मुरादें पूरी करते है। मान्यता है कि इस महीने भगवान शिव की कृपा से विवाह संबंधित सभी अड़चने दूर हो जाती है।


० इस बार है पांच सोमवार
साल 2020 में सावन के महीने में कुल पांच सोमवार पड़ेंगे। पहला सोमवार 6 जुलाई को है इसी दिन से सावन माह शुरू हो जाएगा। वहीं दूसरा सोमवार 13 जुलाई को पड़ेगा। तीसरा सोमवार 20 जुलाई व चौथा सोमवार 27 जुलाई और 3अगस्त के दिन भी सावन का सोमवार पड़ रहा है। इस दिन सावन का अंतिम दिन होगा।


० सावन महीने में शिव पूजन की पौराणिक कथा
शिव पुराण में सावन माह के विषय में उल्लेख है कि जब समुद्र मंथन से निकले विष को भगवान शंकर ने पान कर लिया था तब उनका शरीर बहुत ही ज्यादा गर्म हो गया था। जिससे शिवजी को काफी परेशानी होने लगी थी। भगवान शिव को इस परेशानी से बाहर निकालने के लिए भगवान विष्णु व ब्रह्मा के कहने पर इंद्र देव ने जमकर बारिश करवाई थी। जिससे महादेव की परेशानी दूर हुई। यह घटना क्रम भी सावन के माह में ही हुआ था। तब से ही सावन के माह को महादेव को समर्पित किया गया है।

4 COMMENTS

    • इतनी अच्छी जानकारी के लिए धन्यवाद बड़े पापा अशोक मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here