मंगलवार के दिन हनुमान जी को भक्त करें ऐसे प्रसन्न, पढ़े लेख

5

मंगलवार का दिन हनुमानजी की उपासना के लिए सर्वोत्तम माना जाता है और इस दिन मंदिरों में हनुमान भक्त विधि-विधान से उनकी पूजा-अर्चना करते है। बजरंग बली को प्रसन्न करने के लिए कोई मंत्र जाप करता है तो कोई हनुमान चालीसा का पाठ तो कोई सुंदरकांड का पाठ कर उनका गुणगान करता है। अपने आराध्य को प्रसन्न करने हर कोई अलग-अलग तरह से पूजन करते है। इस लेख के माध्यम से हम राम भक्त हनुमान को प्रसन्न करने का उपाय बताएंगे। ऐसी चीजों के विषय में बताएंगे जिससे राम भक्त हनुमान की कृपा मिलती है।

सिंदुर से दूर करते है दोषों को

हनुमान जी की विशेष कृपा प्राप्त करने के लिए सिंदुर अर्पित किया जाता है। मंगलवार को हनुमान जी को सिंदुर अर्पित करने से ग्रह दोष दूर होते है। साथ ही दुर्घटनाओं से रक्षा होती है और कर्ज से मुक्ति मिलती है। सिंदुर को पीपल या पान के पत्ते पर रखकर अर्पित करना चाहिए। महिलाओं को हनुमान जी को सिंदुर नहीं लाल पुष्प अर्पित करना चाहिए।

चमेली का तेल प्रभु को पसंद

हनुमान जी को चमेली का तेल चढ़ाने की परंपरा भी है परंतु जब भी चमेली का तेल चढ़ाए तब भगवान को सिंदुर भी अर्पित करे। बिना सिंदुर के चमेली का तेल अर्पित न करे। चमेली का तेल चढ़ाने से मन एक विशेष तरीके से एकाग्र होता है तथा आंखों की ज्योति बढ़ जाती है। चमेली के तेल का दीपक जलाने से शत्रु बाधा शांत होती है।

राम नाम लिखा ध्वज

हनुमान जी के मंदिर में लाल ध्वज चढ़ाना भी विशेष लाभकारी होता है। यह तिकोना होना चाहिए। साथ ही इस ध्वज पर राम का नाम लिखा होना चाहिए। मंगलवार को ध्वज चढ़ाने से शीघ्र संपत्ति का लाभ होता है और संपत्ति संबंधी समस्याएं दूर होती है।

तुलसी का दल

हनुमान जी को तुलसीदल अर्पित करना एक अति विशेष प्रयोग है। हनुमानजी तुलसी दल से ही तृप्त होते है और किसी भी चीज से नहीं। तुलसी दल की माला हर मंगलवार को अर्पित करने से हमेशा समृद्धि बनी रहती है। हनुमान जी को अर्पित किए गए तुलसी दल को सेवन करने से हमेशा स्वास्थ्य उत्तम बना रहता है।

लड्डू का भोग

हनुमान जी को सबसे ज्यादा लड्डू का भोग लगाया जाता है। बेसन और बूंदी दोनों तरह के लड्डू हनुमानजी को अर्पित किए जाते है। मंगलवार को शाम को तुलसी दल रखकर लड्डू अर्पित करे।

पूजा के दौरान राम नाम अवश्य ले

हनुमान जी राम भगवान के परम भक्त है और उन्होंने जीवन भर प्रभु भक्ति को सिद्ध भी किया है। इसलिए सबसे ज्यादा प्रिय उन्हें राम नाम है। इस वजह से जब भी पूजन करे राम नाम अवश्य ले। राम नाम के बिना हनुमानजी प्रसन्न नहीं होंगे। इसके अलावा पीपल के पत्ते पर सिंदुर व चमेली के तेल से राम नाम लिख कर अर्पित करे।

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here